SYL मामले पर सुप्रीम कोर्ट ने प्रकाश सिंह बादल और सुखबीर सिंह बादल को भेजा अवमानना नोटिस

अवमानना याचिका में कहा गया है कि SYL पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद दोनों नेताओं का कहना था कि वे SYL पर शीर्ष अदालत के फैसले का पालन नहीं करेंगे, जोकि कोर्ट की अवमानना के दायरे में आता है,लिहाजा दोनों नेताओं पर अवमानना की कार्यवाही चलाई जाए.

SYL मामले पर सुप्रीम कोर्ट ने प्रकाश सिंह बादल और सुखबीर सिंह बादल को भेजा अवमानना नोटिस
फाइल फोटो

नई दिल्ली: सतलुज यमुना लिंक (SYL) मामले को लेकर दायर अवमानना याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार (3 दिसंबर) को प्रकाश सिंह बादल (Prakash Singh Badal) और सुखबीर सिंह बादल को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है. याचिका में दोनों नेताओं के खिलाफ आपराधिक अवमानना की कार्यवाही चलाने की मांग की गई है. अवमानना याचिका में कहा गया है कि SYL पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद दोनों नेताओं का कहना था कि वे SYL पर शीर्ष अदालत के फैसले का पालन नहीं करेंगे, जोकि कोर्ट की अवमानना के दायरे में आता है,लिहाजा दोनों नेताओं पर अवमानना की कार्यवाही चलाई जाए.

दरअसल, गैर सरकारी संस्था दो जबां पांच मुद्दे ने अपने अध्यक्ष सतवीर सिंह हुडा के जरिए सुप्रीम कोर्ट में अवमानना याचिका दाखिल की थी. याचिकाकर्ता सतबीर हुड्डा की ओर से वकील राकेश दाहिया ने मामले में पैरवी की. इससे पहले SYL पर सुप्रीम कोर्ट ने अपने एक फैसले में कहा था कि पंजाब को पड़ोसी राज्यों के साथ सतलुज-यमुना लिंक नहर के पानी के बंटवारे संबंधी समझौते को एकतरफा खत्म करने का कोई अधिकार नहीं है.

आपको बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने SYL मुद्दे पर राष्ट्रपति द्वारा मांगी गई राय के जवाब में कहा था कि पंजाब का अन्य राज्यों के साथ जल बंटवारा समझौता रद करने का एकतरफा कानून असंवैधानिक है.पंजाब सरकार एकतरफा कानून पारित कर राज्यों के बीच के समझौतों और सुप्रीमकोर्ट के आदेश को खतम नहीं कर सकती.

सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले के बाद से कोर्ट का 2002 और 2004 का आदेश प्रभावी हो गया है जिसमें कोर्ट ने हरियाणा को पानी देने के लिए SYL नहर का निर्माण कराने का आदेश दिया था.