केंद्रीय मंत्री सुरेश प्रभु बोले, 'नोटबंदी की राजनीतिक कीमत चुकाने को तैयार है BJP'

आठ नवंबर, 2016 को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 500 और 1000 रुपये के पुराने नोटों को चलन से बाहर करने की घोषणा की थी.

केंद्रीय मंत्री सुरेश प्रभु बोले, 'नोटबंदी की राजनीतिक कीमत चुकाने को तैयार है BJP'
केंद्रीय मंत्री सुरेश प्रभु (फाइल फोटो)

पणजी: केन्द्रीय वाणिज्य मंत्री सुरेश प्रभु ने मंगलवार को कहा कि केन्द्र की बीजेपी सरकार काले धन के खिलाफ अपनी कार्रवाई के लिए राजनीतिक कीमत चुकाने को तैयार है. उत्तरी गोवा से बीजेपी प्रत्याशी श्रीपद नाईक के पक्ष में चुनाव प्रचार करने पहुंचे प्रभु से पूछा गया कि क्या काला धन के खिलाफ लड़ाई में दोबारा नोटबंदी होगी.

उन्होंने कहा, ‘मैं आपको नहीं बता सकता कि क्या हमें एक और (नोटबंदी की) जरूरत है या कुछ और चाहिए, यह सब कुछ वक्त पर निर्भर करता है. (लेकिन) मैं आपको बता दूं कि सरकार (काला धन खत्म करने को लेकर) प्रतिबद्ध है और वह हर संभव कदम उठाएगी. फिर चाहे वह कदम कितना ही मुश्किल क्यों ना हो .  चाहें इसके लिए हमें कोई भी राजनीतिक कीमत क्यों ना चुकानी पड़े, हमारे लिए सिर्फ यह जरूरी है कि सफलता मिल रही है.’

8 नवंबर 2016 को पीएम नोटबंदी की घोषणा की थी
गौरतलब है कि आठ नवंबर, 2016 को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 500 और 1000 रुपये के पुराने नोटों को चलन से बाहर करने की घोषणा की थी.

यह दावा करते हुए कि मोदी नीत सरकार काला धन खत्म करने को लेकर पूर्ण प्रतिबद्ध है, प्रभु ने कहा कि काला धन विभिन्न माध्यमों से संचित होता है और हमारा प्रयास प्रणालीगत बदलाव लाकर उसके संचय को रोकना है.