close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

सुषमा स्वराज ने कुवैत के PM से की मुलाकात, भारतीय समुदाय की चिंताओं को उठाया

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने बुधवार को कुवैत के अमीर (शासक) शेख सबाह अल-अहमद अल जाबेर अल सबाह समेत शीर्ष नेतृत्व से मुलाकात की और आर्थिक तथा सुरक्षा सहयोग को बढ़ावा देने वाले विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की. 

सुषमा स्वराज ने कुवैत के PM से की मुलाकात, भारतीय समुदाय की चिंताओं को उठाया
विदेश मंत्री सुषमा स्वराज.(फोटो- @MEAIndia)

कुवैत सिटी: विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने बुधवार को कुवैत के अमीर (शासक) शेख सबाह अल-अहमद अल जाबेर अल सबाह समेत शीर्ष नेतृत्व से मुलाकात की और आर्थिक तथा सुरक्षा सहयोग को बढ़ावा देने वाले विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की. साथ में भारतीय समुदाय से जुड़े मसले भी उठाए. स्वराज कतर की राजधानी दोहा से मंगलवार को कुवैत पहुंची थीं. कतर में उन्होंने वहां के अमीर शेख तमीम बिन हम्माद अल थानी से सोमवार को मुलाकात की थी और दोनों देशों के शीर्ष नेताओं द्वारा तय की गई योजना पर आगे बढ़ने के तरीकों पर चर्चा की थी.

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने ट्वीट किया, ‘‘ विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कुवैत के अमीर शेख सबाह अल अहमद अल जाबेर अल सबाह से मुलाकात की. उन्होंने क्षेत्र में कुवैत की भूमिका की सराहना की. द्विपक्षीय रिश्तों में सकारात्मक प्रगति को रेखांकित किया और भारतीय समुदाय से जुड़े मसलों को उठाया. ’’


.(फोटो- @MEAIndia)

कुमार ने एक अन्य ट्वीट में कहा कि स्वराज ने कुवैत के प्रधानमंत्री शेख जाबेर अल मुबारक अल हम्माद अल सबाह से मुलाकात की.  द्विपक्षीय हितों के मुद्दों पर चर्चा की और आर्थिक तथा निवेश सहयोग को मजबूत करने और उन्हें आगे बढ़ाने को लेकर चर्चा की. कुमार ने कहा कि स्वराज ने उप प्रधानमंत्री और विदेश मंत्री शेख सबाह खालिद अल हम्माद अल सबाह से भी वार्ता की.

विदेश मंत्री ने उनके साथ द्विपक्षीय रिश्तों, निवेश और सुरक्षा सहयोग को मजबूत करने पर चर्चा की. स्वराज ने कुवैत में रह रहे भारतीय समुदाय से बातचीत की थी जिसके बाद अमीर और प्रधानमंत्री से मुलाकात की. कुवैत में रह रहा भारतीय समुदाय सरकार की श्रम नीतियों में बदलाव से चिंतित है.


.(फोटो- @MEAIndia)

नई श्रम नीति की वजह से हजारों भारतीय इंजीनियरों को निर्वासित किए जाने के अंदेशे के बीच भारतीय दूतावास ने बुधवार को ऐलान किया कि वह दो नवंबर को उन सभी भारतीय इंजीनियरों के लिए बैठक आयोजित करेगा जो कुवैत सरकार की नई श्रम नीतियों से प्रभावित हैं.

इससे पहले स्वराज ने कुवैत में महात्मा गांधी की प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित की थी. स्वराज कतर और कुवैत की चार दिन की यात्रा को समाप्त करके दिल्ली के लिए रवाना हो गईं. नए आंकड़ों के मुताबिक, कुवैत में आठ लाख से ज्यादा भारतीय वैध रूप से रहते हैं. 

इनपुट भाषा से भी