महाराष्ट्र में सरकार बनाने में नाकाम हुई शिवसेना, 24 घंटे में नहीं जुटा पाई NCP-कांग्रेस का समर्थन

महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर सस्पेंस एक बार फिर से बन गया है. शिवसेना नेता आदित्य ठाकरे ने राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मुलाकात के बाद कहा, 'हमसे कहा गया था कि 24 घंटे भीतर बताइए कि आप सरकार बनाएंगे या नहीं. हालांकि हमने 48 घंटे का वक्त मांगा था. हमने राज्यपाल से मिलकर उन्हें कह दिया है कि शिवसेना सरकार बनाने को तैयार है. हमने राज्यपाल महोदय से कहा है कि हम सरकार तो बनाएंगे, लेकिन स्थाई सरकार के लिए हम सहयोगियों से अभी भी बातचीत कर रहे हैं.'

महाराष्ट्र में सरकार बनाने में नाकाम हुई शिवसेना, 24 घंटे में नहीं जुटा पाई NCP-कांग्रेस का समर्थन
शिवसेना नेता आदित्य ठाकरे के बयान से महाराष्ट्र में राजनीतिक सस्पेंस नए सिरे से शुरू.

मुंबई: महाराष्ट्र (Maharashtra) में सरकार गठन को लेकर सस्पेंस एक बार फिर से बन गया है. शिवसेना (Shiv Sena) नेता आदित्य ठाकरे (Aditya Thackeray) ने राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी (Bhagat Singh Kosari) से मुलाकात के बाद कहा, 'हमसे कहा गया था कि 24 घंटे भीतर बताइए कि आप सरकार बनाएंगे या नहीं. हालांकि हमने 48 घंटे का वक्त मांगा था. हमने राज्यपाल से मिलकर उन्हें कह दिया है कि शिवसेना (Shiv Sena) सरकार बनाने को तैयार है. हमने राज्यपाल महोदय से कहा है कि हम सरकार तो बनाएंगे, लेकिन स्थाई सरकार के लिए हम सहयोगियों से अभी भी बातचीत कर रहे हैं.'

राज्यपाल से मिलकर लौटे आदित्य ठाकरे ने कहा कि उनको समर्थन करने वाली पार्टियों की अपनी प्रक्रिया होने के कारण उन्हें अभी तक समर्थन का पत्र नहीं मिला है. आदित्य ने कहा राज्यपाल ने उन्हें और समय देने से मना कर दिया है, लेकिन उनके सरकार बनाने के दावे को खारिज नहीं किया है. आदित्य ने कहा कि उनकी पार्टी सरकार बनाने की कोशिश जारी रखेंगे.

उधर, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि अभी डील फाइनल नहीं हुई है. बातचीत का दौर जारी है. इसके अलावा कांग्रेस ने लिखित बयान जारी कर भी यही बात कही है. 

लाइव टीवी देखें-:

इससे पहले खबर आई थी कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी के आवास पर शाम चार बजे के करीब हुई बैठक तय हो गया था कि कांग्रेस बाहर से शिवसेना (Shiv Sena) को समर्थन देगी, लेकिन ऐसा नहीं हुआ. बैठक खत्म होने के बाद मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि अभी बातचीत जारी है.

इससे पहले खबर आई थी कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी के आवास पर शाम चार बजे के करीब हुई बैठक तय हो गया था कि कांग्रेस बाहर से शिवसेना (Shiv Sena) को समर्थन देगी, लेकिन ऐसा नहीं हुआ. बैठक खत्म होने के बाद मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि अभी बातचीत जारी है. सोनिया गांधी ने उद्धव ठाकरे से फोन पर बातचीत की, जिसके बाद उन्होंने जयपुर में ठहरे कांग्रेस के विधायकों से भी फोन पर बात कीं, लेकिन इसका कोई नतीजा नहीं निकल पाया है.

Congress

एनसीपी ने कांग्रेस के पाले में गेंद फेंका
मुंबई के होटल ताज लैंड्स एंड में एनसीपी प्रमुख शरद पवार और शिवसेना (Shiv Sena) प्रमुख उद्धव ठाकरे की मुलाकात के बाद खबरें आईं की सरकार बनाने को लेकर दोनों दलों के बीच बातचीत फाइनल हो गई है. इस बैठक के बाद एनसीपी के प्रवक्ता नवाब भुक्कल ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि वह शिवसेना (Shiv Sena) के साथ मिलकर सरकार बनाने को लेकर तैयार हैं, लेकिन आखिरी फैसला कांग्रेस को लेना है. नवाब ने कहा कि एनसीपी और कांग्रेस मिलकर चुनाव में उतरी थी, इसलिए बिना सहमति के कोई फैसला नहीं लेगी.

मालूम हो कि महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में बीजेपी और शिवसेना गठबंधन के तहत लड़ी थी. बीजेपी 105 सीटों के साथ सबसे बड़ी पार्टी बनकर आई. हालांकि सरकार बनाने के वक्त शिवसेना मुख्यमंत्री के पद के लिए ढाई-ढाई के फॉर्मूले पर अड़ गई. इसके बाद खबर आई की शिवसेना और एनसीपी के साथ मिलकर सरकार बनाएगी. वहीं कांग्रेस बाहर से समर्थन देगी, लेकिन इस गठबंधन पर आदित्य ठाकरे के ताजा बयान से सस्पेंस बरकरार है. शिवसेना के 56, राष्ट्रवादी कांग्रेस (एनसीपी) के 54 और कांग्रेस के 44 विधायक हैं. महाराष्ट्र में सरकार बनाने के लिए बहुमत का आंकड़ा 145 है.