होली के दिन पड़ा दिल का दौरा, AIADMK विधायक कानगाराज का निधन

विधायक कानगाराज जिस समय समाचार पत्र पढ़ रहे थे उसी समय अचानक उन्हें दिल का दौरा पड़ा.

होली के दिन पड़ा दिल का दौरा, AIADMK विधायक कानगाराज का निधन
अन्नाद्रमुक के विधायक आर कानगाराज. (फोटो साभार: सोशल मीडिया)

कोयंबटूर: सत्तारूढ़ अन्नाद्रमुक के विधायक आर. कानगाराज का गुरुवार को यहां अपने आवास पर दिल का दौरा पड़ने के कारण निधन हो गया. पार्टी सूत्रों ने यह जानकारी दी. वह 64 साल के थे और उनके परिवार में उनकी पत्नी, बेटा और बेटी है. पार्टी सूत्रों ने बताया कि जिले में सुलूर विधानसभा क्षेत्र से विधायक कानगाराज जिस समय समाचार पत्र पढ़ रहे थे उसी समय अचानक उन्हें दिल का दौरा पड़ा.

सूत्रों ने बताया कि पड़ोस से विधायक के आवास पर आये एक डॉक्टर ने उन्हें मृत घोषित कर दिया. सुलतानपेट स्थित उनके आवास पर उनका पार्थिव शरीर रखा गया है जहां लोग उन्हें श्रद्धांजलि दे सकेंगे.

पहली बार 2016 में कोयंबटूर जिले के सुलूर से तमिलनाडु विधानसभा के लिए चुना गया था. उन्होंने कांग्रेस उम्मीदवार मनोहरन को 35,000 से अधिक मतों के अंतर से हराया. कानगाराज एक किसान थे और उनके खिलाफ कोई आपराधिक मामला दर्ज नहीं था. इससे पहले वह कोयंबटूर जिले में पंचायत के अध्यक्ष रह चुके थे.

जब पूर्व मुख्यमंत्री जे जयललिता की मृत्यु के बाद पलानीस्वामी अलग हो गए थे तब आर. कानागराज अन्नाद्रमुक के पलानीस्वामी गुट के साथ थे. आरके नगर उपचुनाव जीतने के बाद वह टीटीवी दिनकरन को बधाई देने वाले पहले विधायकों में से एक थे. वह एआईएडीएमके के तीन गुटों- पलानीस्वामी, ओ पन्नीरसेल्वम और टीटीवी दिनकरन को पार्टी और उसके कैडरों की खातिर एकजुट करने वाले पहले विधायकों में से थे.

कानगाराज के निधन के साथ ही तमिलनाडु विधानसभा में कुल रिक्तियों की संख्या 22 हो गई है. तमिलनाडु में 18 अप्रैल को 39 लोकसभा सीटों पर चुनाव होगा. इसी दिन राज्य की 18 विधानसभा क्षेत्रों में एक साथ उपचुनाव भी होगा.