तेलंगाना : CM चंद्रशेखर राव ने बुलाई कैबिनेट मीटिंग, क्या भंग होगी विधानसभा?

विधानसभा भंग किए जाने को लेकर 6 सितंबर का दिन चुने जाने का कारण बेहद ही अहम है. 

तेलंगाना : CM चंद्रशेखर राव ने बुलाई कैबिनेट मीटिंग, क्या भंग होगी विधानसभा?
तेलंगाना के मुख्यमंत्री चंद्रशेखर राव का फाइल फोटो

हैदराबाद : तेलंगाना में समय से पहले विधानसभा चुनाव कराने के लिए मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव के सदन को भंग करने की तरफ बढ़ने के संकेतों के बीच पांच दिनों में दूसरी बार गुरूवार को मंत्रिमंडल की बैठक बुलाई है. सत्तारूढ़ तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) के सूत्रों ने बुधवार को कहा कि सरकार ने विधानसभा भंग करने को लेकर करीब करीब मन बना लिया है. बता दें कि वर्तमान सदन का कार्यकाल 2019 में खत्म हो रहा है.

6 सितंबर को ही क्यों हो रहा है प्रदर्शन
बता दें कि, विधानसभा भंग किए जाने को लेकर 6 सितंबर का दिन चुने जाने का कारण बेहद ही अहम है. पार्टी के सूत्रों के हवाले से मिल रही जानकारी के मुताबिक, मुख्यमंत्री राव 6 नंबर को काफी लकी मानते हैं. राव का मानना है कि यह तारीख उनके के लिए कई मायनों में खास और फलदायक साबित हो सकती है.

पक्का है विधानसभा का भंग होना-TRS नेता
टीआरएस के एक वरिष्ठ नेता ने कहा, ‘‘विधानसभा का भंग होना पक्का है. हां यही हो रहा है. मंत्रिमंडल सदन भंग करने का या मामले पर विचार करने के लिए उसकी बैठक बुलाने की सिफारिश कर सकता है.’’ 

लोकसभा के साथ होने हैं विधानसभा चुनाव
तेलंगाना में विधानसभा चुनाव मूल रूप से अगले साल लोकसभा चुनाव के साथ ही निर्धारित हैं लेकिन मुख्यमंत्री को लगता है कि दोनों चुनाव अलग-अलग समय पर होने से उनकी पार्टी को फायदा मिलेगा. मई, 2014 में हुए पहले विधानसभा चुनाव में टीआरएस ने 119 सीटों में से 63 जीती थीं.

विधानसभा भंग होने के बाद शुरू होगा चुनावी अभियान
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, अगर शुक्रवार को विधानसभा भंग हो जाती है तो ऐसी स्थिति में राव अपने चुनावी अभियान की शुरुआत कर सकते हैं. पार्टी के सूत्रों के हवाले से मिल रही जानकारी के मुताबिक, चुनावी अभियान के दौरान राव 50 दिनों में 100 बैठकें कर पार्टी को मजबूती देने की कोशिश करेंगे.