किसी रुकावट से ISRO की उड़ान नहीं रुक सकती, वैज्ञानिकों के नाम PM मोदी के संबोधन की 10 खास बातें

पीएम मोदी ने इसरो के वैज्ञानिकों को शनिवार सुबह संबोधित किया. उन्होंने वैज्ञानिकों की तारीफ की और उन्हें देश के लिए जीने और जूझने वाला बताया. 

किसी रुकावट से ISRO की उड़ान नहीं रुक सकती, वैज्ञानिकों के नाम PM मोदी के संबोधन की 10 खास बातें
पीएम नरेंद्र मोदी ने इसरो के वैज्ञानिकों से कहा देश आपके साथ खड़ा है.

नई दिल्ली: पीएम नरेंद्र मोदी ने ISRO के वैज्ञानिकों को शनिवार सुबह संबोधित किया. उन्होंने वैज्ञानिकों की तारीफ की और उन्हें देश के लिए जीने और जूझने वाला बताया. बता दें भारत का महत्वाकांक्षी मिशन चंद्रयान शुक्रवार देर रात चांद से महज 2 किलोमीटर की दूरी पर आकर खो गया. चांद की सतह की ओर बढ़ रहा लैंडर विक्रम का चांद की सतह से 2.1 किलोमीटर पहले संपर्क टूट गया. पीएम ने अपने संबोधन में चंद्रयान 2 के सफर को शानदार बताया और कहा कि नाकामियां या रुकावटें हमें लक्ष्य हासिल करने से नहीं रोक सकती. 

1-आप वो लोग हैं जो मां भारती के लिए, उसकी जय के लिए जीते हैं. आप वो लोग हैं जो मां भारती के लिए जूझते हैं. आप वो लोग हैं जो मां भारती के लिए जज्बा रखते हैं. मां भारती का सर ऊंचा हो, इसके लिए पूरा जीवन खपा देते हैं

2-इस मिशन के साथ जुड़ा हुआ हर व्यक्ति एक अलग ही अवस्था में था. बहुत से सवाल थे, बड़ी सफलता के साथ आगे बढ़ते हैं. अचानक सबकुछ नजर आना बंद हो गया, मैंने भी उस पल को आपके साथ जिया है. 

3-अपने वैज्ञानिकों से मैं कहना चाहता हूं कि भारत आपके साथ है. आप शानदार प्रोफेशनल हैं, देश आपके साथ खड़ा है. आप अपना सर्वश्रेष्ठ देते हैं

4-आज भले ही कुछ रुकावटें हाथ लगी हो लेकिन इससे हमारा हौसला कमजोर नहीं पड़ा है, बल्कि और मजबूत हुआ है. आज हमारे रास्ते में भले ही एक रुकावट आई हो, लेकिन इससे हम अपनी मंजिल के रास्ते से डिगे नहीं हैं. 

5-हमारे हजारों वर्षों का इतिहास ऐसे उदाहरणों से भरा हुआ है जब शुरुआती रुकावटों के बावजूद हमने ऐतिहासिक सिद्धियां हासिल की हैं. खुद ISRO भी कभी न हार मानने वाली संस्कृति का जीता-जागता उदाहरण है. 

6- परिणामों से निराश हुए बिना निरंतर लक्ष्य की तरफ बढ़ने की हमारी परंपरा भी रही है और हमारे संस्कार भी रहे हैं.

7-अगर अपनी शुरुआती चुनौतियों, दिक्कतों से हम हार जाते तो आज ISRO दुनिया की अग्रणी स्पेस एजेंसियों में से एक भी स्थान नहीं ले पाता. 

8- हर मुश्किल, हर संघर्ष, हर कठिनाई, हमें कुछ नया सिखाकर जाती है. कुछ नए आविष्कार, नई टेक्नोलॉजी के लिए प्रेरित करती है और इसी से हमारी आगे की सफलता तय होती है. 

9- ज्ञान का अगर सबसे बड़ा शिक्षक कोई है तो वो विज्ञान है. विज्ञान में विफलता होती ही नहीं, केवल प्रयोग और प्रयास होते हैं. हर प्रयोग, हर प्रयास ज्ञान के नए बीज बो के जाता है.

10-मैं गर्व के साथ कह सकता हूं कि चंद्रयान-2 की यात्रा एक शानदार सफर रहा है.