Zee Rozgar Samachar

महाराष्ट्र के नेता की अजीब डिमांड, बोले- अयोध्या में मूछों वाले भगवान राम की लगे मूर्ति

संभाजी भिड़े ने कहा, 'अगर आप यह भूल (भगवान राम की मूर्ति में मूछें न होना) नहीं सुधारते हैं, तो भगवान राम के मेरे जैसे भक्तों के लिए मंदिर का कोई अर्थ नहीं है.' उन्होंने मंदिर स्थल पर भूमि पूजन से पहले कहा कि छत्रपति शिवाजी महाराज की एक तस्वीर की पूजा की जानी चाहिए.

महाराष्ट्र के नेता की अजीब डिमांड, बोले- अयोध्या में मूछों वाले भगवान राम की लगे मूर्ति
(फाइल फोटो)

पुणे: हिंदुत्व नेता संभाजी भिड़े (Sambhaji Bhide) ने सोमवार को कहा कि अयोध्या (Ayodhya) में प्रस्तावित मंदिर में भगवान राम की मूर्ति की मूछें होनी चाहिए. बता दें कि अयोध्या में बुधवार को राम मंदिर का भूमि पूजन होना है, जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के शामिल होने की उम्मीद है.

भिड़े ने पुणे के नजदीक सांगली में पत्रकारों से कहा, 'मैंने गोविंद गिरिजी महाराज (मंदिर न्यास के एक न्यासी) से कहा है कि आप राम और लक्ष्मण की जिस मूर्ति की स्थापना करने जा रहे हैं, उनकी मूछें होनी चाहिए.'

ये भी पढ़ें- DNA ANALYSIS: अयोध्‍या में 500 वर्षों और 25 पीढ़ियों का सपना हो रहा पूरा

भिड़े ने कहा, 'अगर आप यह भूल (भगवान राम की मूर्ति में मूछें न होना) नहीं सुधारते हैं, तो भगवान राम के मेरे जैसे भक्तों के लिए मंदिर का कोई अर्थ नहीं है.' उन्होंने मंदिर स्थल पर भूमि पूजन से पहले कहा कि छत्रपति शिवाजी महाराज की एक तस्वीर की पूजा की जानी चाहिए.

शिव प्रतिष्ठान हिंदुस्तान के प्रमुख भिड़े ने लोगों से पांच अगस्त को होने वाले भूमि पूजन के दिन दीपवाली और दशहरा की तरह जश्न मनाने की अपील की.

ये भी  पढ़ें- इस राज्य में बनेगा भगवान श्रीराम का भव्य ननिहाल, सरकार ने बनाई योजना

राकांपा प्रमुख शरद पवार ने हाल ही में कहा था कि कुछ लोगों को लगता है कि मंदिर बन जाने से कोविड-19 महामारी खत्म हो जाएगी. पवार के इस बयान पर भिड़े ने कहा कि वह एक सम्मानित व्यक्ति हैं और उन्हें ऐसा बयान नहीं देना चाहिए था.

भिड़े ने कहा, 'पवार को भूमि पूजन कार्यक्रम में जाना चाहिए, भले ही उन्हें निमंत्रण न मिला हो. वह वहां पूरे महाराष्ट्र का प्रतिनिधित्व करेंगे.'

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.