Kashmir Files Controversy: IFFI के जूरी हेड के बयान पर अनुपम खेर का पलटवार, जानें क्या कहा?
topStories1hindi1462874

Kashmir Files Controversy: IFFI के जूरी हेड के बयान पर अनुपम खेर का पलटवार, जानें क्या कहा?

Anupam Kher on Nadav Lapid: इससे पहले इजराइल के राजदूत ने नदव लापिड की 'द कश्मीर फाइल्स' पर विवादित टिप्पणी को 'बड़ी गलती' करार दिया था. उन्होंने कहा कि उनके देश का इस फिल्म को लेकर क्या नजरिया है, वो इजरायल के फिल्म डायरेक्टर के बयान से नहीं झलकता है. 

Kashmir Files Controversy: IFFI के जूरी हेड के बयान पर अनुपम खेर का पलटवार, जानें क्या कहा?

IFFI Jury Head Nadav Lapid Controversy: फिल्म द कश्मीर फाइल्स पर IFFI के जूरी हेड नदव लैपिड के बयान पर बवाल मचा हुआ है. दरअसल लैपिड ने फिल्म समारोह के समापन पर द कश्मीर फाइल्स को वल्गर और प्रोपेगेंडा फिल्म बताते हुए कहा था कि ये फिल्म परेशान करने वाली है. एक विदेशी निर्देशक के इस बयान पर बयानों का सिलसिला जगातार जारी है. इस बयान पर इजरायल के राजदूत ने माफी मांगी है, तो शिवसेना के नेता संजय राउत ने विदेशी फिल्मकार का समर्थन करते हुए 'The Kashmir Files' के निर्माताओं पर तंज कसा है तो अभिनेता अनुपम खेर और फिल्ममेकर अशोक पंडित ने जूरी के बयान पर अपना कड़ा विरोध जताया है. 

भगवान उन्हें सद्बुद्धि दें: खेर

इस बयान को लेकर अनुपम खेर ने मीडिया से बात करते हुए कहा, 'वहां का होलोकास्ट सही है तो कश्मीरी पंडितों का नरसंहार भी सही है, टूल किट गैंग कैसे एक्टिव हो गया. ये शर्मिंदगी भरा काम है. मेरे समुदाय ने नरसंहार सहा था. जिस समुदाय से वो आते हैं, उनके समुदाय ने भी बहुत पहले नरसंहार को सहा है. इसलिए गणपति उन्हें सद्बुद्धि दे. मैं यही कहूंगा कि सिद्दि विनायक हमारे गणपति उन्हें सद्बुद्दि दें. ताकि वो हजारों-लाखों लोगों की जो ट्रेडिजी है उसे किसी मंच से इस्तेमाल करके अपना कोई एजेंडा न पूरा कर सके. ऐसे बयान शर्मनाक हैं.'

क्या पार्ट-2 बनाएंगे: संजय राउत

विदेशी फिल्मकार यानी जूरी के बयान का समर्थन करते हुए शिवसेना उद्धव गुट के नेता ने कहा संजय राउत ने कहा, 'फिल्म रिलीज के बाद इस पर राजनीति हुई है और जिसके चलते और ज्यादा कश्मीरी पंडितों को परेशानी हुई है. फिल्म के बाद तो कश्मीरी पंडितो पर जुल्म और हमले बढ़ गए हैं तो क्या उसका पार्ट-2 बनाएंगे. इस फिल्म से कमाए गए कुछ पैसे वहां के लोगों को दिए जाने चाहिए थे. यह एक प्रोपगंडा फिल्म थी बीजेपी की, और कुछ नहीं. अब सबको समझ रहा है कश्मीरी पंडितो को इससे कुछ भी नही मिला, इन्होंने अपनी जेब भरी, वहीं वल्गर है या नहीं मुझे नहीं पता क्योंकि मैंने देखी ही नहीं है.'

राजदूत का बयान

इससे पहले इजराइल के राजदूत ने नदव लापिड की 'द कश्मीर फाइल्स' पर विवादित टिप्पणी को 'बड़ी गलती' करार दिया था. उन्होंने कहा कि उनके देश का इस फिल्म को लेकर क्या नजरिया है, वो इजरायल के फिल्म डायरेक्टर के बयान से नहीं झलकता है. मीडिया से बातचीत के दौरान उन्होंने कहा, 'मैंने फिल्म देखी, यह निश्चित रूप से प्रचार नहीं है. कश्मीर के लोगों की आवाज सुनने की जरूरत है.. बीती रात जो कहा गया, हम उसे बिल्कुल भी स्वीकार नहीं करते हैं.'

पाठकों की पहली पसंद Zeenews.com/Hindi - अब किसी और की ज़रूरत नहीं. 

Trending news