Corona ने तोड़े सारे Record, एक दिन में आए 1 लाख 70 हजार मामले, 16 राज्यों में स्थिति सबसे ज्यादा चिंताजनक

Corona Cases In India: केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, देश में रोजाना जितने मरीज संक्रमित हो रहे हैं, उनमें अभी 1.27 प्रतिशत मरीजों की जान जा रही है, जबकि पांच अप्रैल को मृत्युदर 1.31 प्रतिशत थी जो कि आंशिक रूप से कम है. सबसे ज्यादा खराब स्थिति महाराष्ट्र में बनी हुई है.

Corona ने तोड़े सारे Record, एक दिन में आए 1 लाख 70 हजार मामले, 16 राज्यों में स्थिति सबसे ज्यादा चिंताजनक
फाइल फोटो

नई दिल्ली: कोरोना (Coronavirus) महामारी के बढ़ते आंकड़ों ने खौफ पैदा कर दिया है. संक्रमित लोगों की संख्या हर रोज बढ़ती जा रही है. नाइट कर्फ्यू, वीकेंड लॉकडाउन (Lockdown) जैसे उपायों के बावजूद संक्रमण की रफ्तार कम नहीं हो रही है. रविवार को सामने आई संक्रमितों की संख्या ने सभी पुराने रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं. वर्ल्डोमीटर के मुताबिक, पिछले 24 घंटों में 1,69,899 नए संक्रमित मिले, जो महामारी के बाद से अब तक एक दिन में संक्रमितों की सर्वाधिक संख्या है. इस दौरान 904 कोरोना मरीजों की मौत भी हुई. खासकर छह राज्यों में स्थिति चिंताजनक हो गई है. यहां कोरोना के नए मामले लगातार सामने आ रहे हैं. 

इन राज्यों में ज्यादा बुरे हाल

हिंदुस्तान टाइम्स में छपी खबर के मुताबिक, एक सरकारी अधिकारी ने बताया कि कोरोना की दूसरी लहर ज्यादा खतरनाक है. इस बार वे जिले ज्यादा प्रभावित हो रहे हैं, जो पिछली बार कोरोना की मार से बच गए थे. इसलिए सभी को अतिरिक्त ध्यान देने की जरूरत है. जिन राज्यों में संक्रमण के मामलों में ज्यादा उछाल देखने को मिल रहा है उनमें महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, उत्तर प्रदेश, कर्नाटक, दिल्ली, तमिलनाडु, मध्य प्रदेश, गुजरात, हरियाणा, राजस्थान, पंजाब, केरल, तेलंगाना, उत्तराखंड, आंध्र प्रदेश और पश्चिम बंगाल शामिल हैं. लगभग 10 दिन पहले देश का केसहोल्ड 5% से नीचे आ गया था, अब बढ़कर दोगुना हो गया है. 

ये भी पढ़ें -Coronavirus के खिलाफ कारगर Remdesivir दवा के निर्यात पर लगी रोक, कालाबाजारी की तो होगी कार्रवाई

Recovery Rate में भी गिरावट 

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, देश में पिछले कुछ दिनों से रोजाना एक लाख से अधिक नए मामले सामने आ रहे हैं, जो चिंता का विषय है. देश के कुल एक्टिव केसों में महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, कर्नाटक, उत्तर प्रदेश और केरल की हिस्सेदारी 70.82% है. इसमें अकेले महाराष्ट्र का हिस्सा 48.57% है. वहीं, देश के रिकवरी रेट में भी गिरावट आ रही है. कुछ वक्त पहले तक रिकवरी रेट 98% तक पहुंच गया था, लेकिन मौजूदा वक्त में यह गिरकर 90.44% का गया है.  

यहां नहीं हुई कोई मौत 

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, देश में रोजाना जितने मरीज संक्रमित हो रहे हैं, उनमें अभी 1.27 प्रतिशत मरीजों की जान जा रही है, जबकि पांच अप्रैल को मृत्युदर 1.31 प्रतिशत थी जो कि आंशिक रूप से कम है. सबसे ज्यादा खराब स्थिति महाराष्ट्र में बनी हुई है. हालांकि, दस राज्यों और केंद्र शासित प्रदेश ऐसे भी रहे जहां शनिवार को कोरोना की वजह से कोई मौत नहीं हुई. इसमें दादरा और नगर हवेली, दमन और दीव, नागालैंड, त्रिपुरा, मेघालय, सिक्किम, मिजोरम, मणिपुर, लक्षद्वीप, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह और अरुणाचल प्रदेश शामिल हैं.

VIRAL VIDEO

लगातार बढ़ रहे Positive Case

देश में पिछले सप्ताह हर दिन औसत 1,24,476 नए कोरोना मामले दर्ज किए गए जबकि पहली लहर के दौरान अधिकतम 97 हजार से कुछ अधिक मामले ही एक दिन के भीतर दर्ज किए गए थे. पिछले रविवार यानी 5 अप्रैल को देश में पहली बार 24 घंटों में एक लाख से कुछ अधिक केस दर्ज किए गए थे, जिसके बाद से यह आंकड़ा लगातार बढ़ रहा है. इस समय देश में संक्रमण के कुल मामलों के दोगुने होने की अवधि 60.2 दिन और मौतों के मामलों के दोगुने होने की अवधि 139.5 दिन है.

PM Modi ने की लोगों से अपील

5 अप्रैल को सरकार ने आठ लाख नमूने ही जांचें, जिसके बाद इसमें लगातार तेजी आई. छह, सात और आठ अप्रैल को 12-12 लाख नमूने जांचे गए. फिर नौ अप्रैल को 13 व 10 अप्रैल को 11 लाख नमूनों की जांच की गई. बीते रविवार को एक दिन के भीतर 14 लाख से कुछ अधिक नमूने जांचे गए. इसी तरह, पिछले एक सप्ताह के दौरान रोजाना टीकाकरण 30 लाख से लेकर 40 लाख के बीच हुआ. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोगों से टीका लगवाने की अपील की है. पीएम मोदी ने कहा है कि पात्र लोगों को बिना देरी किए कोरोना वैक्सीन लगवानी चाहिए.

 

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.