सर्जिकल स्ट्राइक पर सबूत मांगने वाले जोकर, अरुंधति रॉय की विचारधारा पत्थरबाजों जैसी: परेश रावल

बीजेपी सांसद और बॉलीवुड अभिनेता परेश रावल ने भारतीय सेना के सर्जिकल स्ट्राइक और सेना पर सवाल उठाने वालों की कड़ी आलोचना की है. उन्होंने ज़ी न्यूज़ के साथ खास बातचीत में कहा है कि जो लोग सर्जिकल स्ट्राइक पर सबूत मांगते हैं उन्हें अटैक की जगह ले जाना चाहिए और ऐसे लोग जोकर हैं.

सर्जिकल स्ट्राइक पर सबूत मांगने वाले जोकर, अरुंधति रॉय की विचारधारा पत्थरबाजों जैसी: परेश रावल
परेश रावल ने कहा कि सर्जिकल स्ट्राइक पर सबूत मांगने वाले लोग जोकर हैं.

नई दिल्ली: बीजेपी सांसद और बॉलीवुड अभिनेता परेश रावल ने भारतीय सेना के सर्जिकल स्ट्राइक और सेना पर सवाल उठाने वालों की कड़ी आलोचना की है. उन्होंने ज़ी न्यूज़ के साथ खास बातचीत में कहा है कि जो लोग सर्जिकल स्ट्राइक पर सबूत मांगते हैं उन्हें अटैक की जगह ले जाना चाहिए और ऐसे लोग जोकर हैं.

और पढ़ें: अरूंधति रॉय पर किया गया परेश रावल का ट्वीट ट्विटर वॉल से गायब?

सर्जिकल स्ट्राइक पर सबूत मांगने वाले लोग जोकर

परेश रावल ने कहा कि सर्जिकल स्ट्राइक पर सबूत मांगने वाले लोग जोकर हैं. कुछ लोग सेना को बेवजह कोसते है जो गलत है. हमारी आर्मी हमारे देश की आर्मी है जिसका सम्मान करना चाहिए. कुछ दिनों पहले देश की जानीमानी लेखिका अरुंधति रॉय पर हुए ट्वीट विवाद को लेकर उन्होंने कहा कि अरुंधति रॉय पर दिये गए बयान पर मैं अब भी कायम हूं. उनकी अपनी विचारधारा है और लोकतंत्र में मेरी अपनी अभिव्यक्ति है. लेकिन अरुंधति रॉय की विचारधारा पत्थरबाजों जैसी हैं.

और पढ़ें: परेश रावल ने कहा, 'किसी पत्थरबाज की जगह लेखिका अरूंधति रॉय को आर्मी की जीप से बांधें'

 

भारत को पाकिस्तान के साथ क्रिकेट खेलना चाहिए

परेश रावल ने कहा कि भारत को पाकिस्तान के साथ क्रिकेट खेलना चाहिए. ट्वीटर विवाद पर उन्होंने कहा कि इसके बंद होने से कोई फर्क नहीं पड़ता. मैने पहले भी कहा है बाल कटाने से बॉडी का वजन कम नहीं होता. ट्वीटर हो या नहीं हो इससे कोई फर्क नहीं पड़ता.  

परेश रावल ने किया था ट्वीट

कश्मीर में सुरक्षा बलों ने एक प्रदर्शनकारी को थलसेना की जीप के बोनट से बांधा था, ताकि प्रदर्शनकारी किसी सुरक्षाकर्मी और मतदानकर्मी पर पत्थर नहीं फेंक सकें. रावल ने ट्वीट किया था, ‘थलसेना की जीप पर पत्थरबाज को बांधने की बजाय अरूंधति रॉय को बांधो . बहरहाल, 66 साल के रावल ने बताया कि उन्होंने ट्वीट नहीं हटाया है 

रावल ने कहा, ‘उन्होंने (ट्विटर ने) कहा कि आप अपना ट्वीट हटाएं और हम आपका अकाउंट चालू कर देंगे . लेकिन मैं अपना ट्वीट नहीं हटाने वाला . नहीं, मैंने ट्वीट नहीं हटाया है.’ यह पूछे जाने पर कि क्या उनका ट्विटर अकाउंट अब भी चालू है, इस पर रावल ने कहा, ‘यह चालू है, लेकिन शायद ब्लॉक जैसी कोई चीज है . जैसे ही मैं ट्वीट हटाउंगा यह चालू हो जाएगा .’ भाजपा सांसद ने दावा किया कि उन्हें ‘किसी ने एसएमएस करके कहा कि ट्विटर के भारत प्रमुख कोई ऐसे व्यक्ति हैं जो भारत के बारे में सहानुभूति वाली राय नहीं रखते . मुझे नहीं पता यह सही है या गलत .’

अरुंधति ने दी थी ट्वीट पर प्रतिक्रिया

देश की जानीमानी लेखिका और बेहद प्रतिष्ठित बुकर पुरस्कार से सम्मानित अरुंधती रॉय ने फिल्म अभिनेता और सांसद परेश रावल के ट्वीट पर कोई भी प्रतिक्रिया देने से इंकार कर दिया था. न्यूज चैनल एनडीटीवी इंडिया से बातचीत में उन्होंने कहा कि मैं इसे तूल नहीं देना चाहती. इस वक्त मैं कई जरूरी कामों में व्यस्त हूं. 

परेश रावल की टिप्पणी से हुआ था विवाद

गौर हो कि भाजपा सांसद परेश रावल ने टिप्पणी करके विवाद पैदा कर दिया था कि किसी पत्थरबाज की बजाय जानीमानी लेखिका अरूंधति रॉय को भारतीय थलसेना की जीप से बांधना चाहिए. रावल ने कश्मीर की एक घटना के संदर्भ में यह विवादित टिप्पणी की जिसमें सुरक्षाकर्मियों ने एक भीड़ के खिलाफ मानव कवच के तौर पर एक प्रदर्शनकारी का इस्तेमाल किया था.

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.