close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

भारतीय वोटर आई कार्ड पर नेपाल जाने की कोशिश में तिब्‍बतन युवक एयरपोर्ट से गिरफ्तार

आरोपी युवक का एक और आईकार्ड मिला. यह आईकार्ड को देखने के बाद यह साबित हो गया कि युवक तिब्‍बत मूल का है.   

भारतीय वोटर आई कार्ड पर नेपाल जाने की कोशिश में तिब्‍बतन युवक एयरपोर्ट से गिरफ्तार
आरोपी युवक के कबूलनामे के बाद उसे दिल्‍ली एयरपोर्ट पुलिस के हवाले कर दिया गया. (फाइल फोटो)

नई दिल्‍ली: इंदिरा गांधी अंतरराष्‍ट्रीय एयरपोर्ट पर इमीग्रेशन अधिकारियों को धोखा देकर विदेश जाने की कोशिश को नाकाम कर दिया गया है. इस मामले में दिल्‍ली एयरपोर्ट पुलिस ने आरोपी युवक को गिरफ्तार कर लिया है. गिरफ्तार हुआ युवक तिब्‍बत मूल का है और उसकी पहचान रिंचेन टेजरिंग के रूप में हुई है. पुलिस ने आरोपी के खिलाफ आईपीसी की धारा 420,468 और 471 के तहत मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है. 

आईजीआई एयरपोर्ट की सुरक्षा में तैनात वरिष्‍ठ अधिकारी के अनुसार, भारतीय वोटर आई कार्ड धारक किबना पासपोर्ट के नेपाल की यात्रा कर सकते हैं. ऐसे मुसाफिरों को एयरपोर्ट पर इमीग्रेशन के दौरान अपना भारतीय वोटर आईकार्ड दिखाना होता है. इसी प्रावधान का फायदा उठाकर आरोपी युवक नेपाल जाने की फिरांक में था. वह अपने मंसूबों में सफल होता, इससे पहले इमीग्रेशन अधिकारियों ने उसे पकड़कर दिल्‍ली एयरपोर्ट पुलिस के हवाले कर दिया. 

उन्‍होंने बताया कि यह युवक 11 जुलाई को रात आईजीआई एयरपोर्ट पहुंचा था. आरोपी युवक को इंडिगो एयरलाइंस की फ्लाइट 6ई-45 से नेपाल के लिए रवाना होना था. इमीग्रेशन जांच के दौरान, आरोपी युवक ने पहचान पत्र के तौर पर भारतीय वोटर आईकार्ड दिखाया. वोटर आईकार्ड को देखकर इमीग्रेशन अधिकारियों को शक हुआ. शक के आधार पर उन्‍होंने वोटर आईकार्ड को सत्‍यापन के लिए भेजकर आरोपी युवक से पूछताछ शुरू की. 

पूछताछ के दौरान, आरोपी युवक के सामान की तलाशी ली गई. जिसमें आरोपी युवक का एक और आईकार्ड मिला. यह आईकार्ड को देखने के बाद यह साबित हो गया कि युवक तिब्‍बत मूल का है और वह भारत में आकर बस गया है. जिसके बाद, इमीग्रेशन अधिकारियों ने धोखा देने के आरोप में हिरासत में ले लिया. आरोपी युवक के कबूलनामे के बाद उसे दिल्‍ली एयरपोर्ट पुलिस के हवाले कर दिया गया.