close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

8 साल बाद ज्योति बसु संग्रहालय के लिए ममता सरकार ने दी 5 एकड़ जमीन

पिछले 8 सालों से ये जमीन तृणमूल कांग्रेस के पास थी, अब सरकार ने सोशल वेलफेयर एंड रिसर्च सेंटर के नाम पर जमीन दी है.

8 साल बाद ज्योति बसु संग्रहालय के लिए ममता सरकार ने दी 5 एकड़ जमीन
ज्योति बसु सेंटर फॉर सोशल वेलफेयर एंड रिसर्च सेंटर के नाम पर ममता सरकार ने जमीन दी है. (फाइल फोटो)

कोलकाता: तृणमूल कांग्रेस अपनी पुरानी लड़ाई को भूलने की कोशिश करती दिख रही है. सीपीएम के 35 साल के राज के बाद जब तृणमूल सत्ता में आई तो तब से लेकर आज तक तृणमूल ने सीपीएम को घेरने की हर संभव कोशिश की. फिर चाहे वह  सिंगुर, नंदीग्राम आंदोलन हो या बंगाल में हो रही हिंसा. लेकिन लोकसभा चुनाव के बाद अब तृणमूल विधानसभा में वो गलती नहीं करना चाहती, जो उसने लोकसभा में की. 

लोकसभा चुनाव के नतीजों के बाद तृणमूल कांग्रेस और सीपीएम अपने सारे मतभेद मिटाकर दोस्ती के तरफ कदम बढ़ा रहे हैं. पश्चिम बंगाल सरकार ने कोलकाता के न्यू टाउन इलाके में पूर्व दिवंगत नेता ज्योति बसु के नाम पर सीपीएम को जमीन दी है. ज्योति बसु सेंटर फॉर सोशल वेलफेयर एंड रिसर्च सेंटर के नाम पर जमीन दी गई है. कोलकाता के मेयर फिरहाद हाकिम ने इस बात की पुष्टि की है.

इससे पहले भी सीपीएम नेता तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो ममता बनर्जी से कई बार वहां पर जमीन की मांग कर चुके हैं. जानकारी के मुताबिक, कैबिनेट की मंजूरी मिलने के बाद सरकार से अब चिट्ठी भी मिल चुकी है.

लाइव टीवी देखें

पिछले 8 सालों से ये जमीन तृणमूल कांग्रेस के पास थी, अब सरकार ने सोशल वेलफेयर एंड रिसर्च सेंटर के नाम पर जमीन दी है. न्यू टाउन में 5 एकड़ जमीन राज्य सरकार के कब्जे में थी. ममता सरकार के इस कदम के बाद राजनीतिक गलियारों में हलचल शुरू हो गई है.