गोवा चाहता है 'अमीर टूरिस्‍ट', बसों में खाना पकाने वाले नहीं चाहिए : मंत्री
X

गोवा चाहता है 'अमीर टूरिस्‍ट', बसों में खाना पकाने वाले नहीं चाहिए : मंत्री

गोवा के पर्यटन मंत्री मनोहर अजगांवकर (Goa Tourism Minister Manohar Ajgaonkar) ने कहा, हम सबसे अमीर पर्यटक चाहते हैं. साथ ही उन्होंने साफ कहा कि राज्य में ड्रग्स लेने वाले पर्यटक कतई बर्दाश्त नहीं किए जाएंगे.

गोवा चाहता है 'अमीर टूरिस्‍ट', बसों में खाना पकाने वाले नहीं चाहिए : मंत्री

पणजी: गोवा के पर्यटन मंत्री मनोहर अजगांवकर ने कहा कि गोवा केवल 'सबसे अमीर पर्यटक' चाहता है, न कि उस तरह के यात्री जो कम बजट में तटीय राज्य का दौरा करते हैं. साथ ही उन्होंने कहा, 'हम उन पर्यटकों को नहीं चाहते, जो ड्रग्स का लेते हैं, हम गोवा को बर्बाद करने वाले पर्यटकों को नहीं चाहते हैं. 

'नशीले पदार्थों का सेवन बर्दाश्त नहीं'

पर्यटन मंत्री मनोहर अजगांवकर ने कहा, हम गोवा में बसों में खाना पकाने वाले पर्यटकों को नहीं चाहते हैं. हम सबसे अमीर पर्यटक चाहते हैं. हम ऐसे पर्यटक चाहते हैं जो हमारी संस्कृति, विरासत और गोवा-नेस का सम्मान करते हैं. हम पर्यटकों का स्वागत करते हैं, लेकिन उन्हें संस्कृति और परंपरा की सीमा के भीतर गोवा का आनंद लेना चाहिए.' पर्यटन मंत्री ने यह भी कहा कि राज्य सरकार गोवा आने वाले पर्यटकों को नशीले पदार्थों के सेवन को बर्दाश्त नहीं करेगी.

सरकार ड्रग्स के खिलाफ

पर्यटन मंत्री ने कहा, 'हम ड्रग्स के खिलाफ हैं और हमारे सीएम भी इसके खिलाफ हैं. अजगांवकर ने यह भी कहा कि विदेशों से आने वाले पर्यटकों को पांच लाख वीजा मुफ्त देने के प्रधानमंत्री के फैसले से गोवा को फायदा होगा. उन्होंने कहा, 'पर्यटन खुलने जा रहा है, चार्टर उड़ानें अब शुरू होंगी. झोपड़ी और होटल लाइसेंस से संबंधित 50 प्रतिशत फीस पहले से ही माफ कर दी गई है.' गौरतलब है कि गोवा को देश के शीर्ष समुद्र तट और नाइटलाइफ टूरिस्ट प्लेस में से एक माना जाता है. महामारी से पहले गोवा में घरेलू और अंतरराष्ट्रीय दोनों तरह के लगभग 80 लाख पर्यटक घूमने आए. 

LIVE TV

Trending news