चालान के विरोध में सड़कों पर उतरे ट्रांसपोर्टर, जबरन रुकवाते रहे टैक्‍सी-ऑटो

नए मोटर व्हीकल एक्ट में बढ़े चालान के खिलाफ ट्रांसपोर्टर्स ने दिल्ली-एनसीआर को लगभग बंधक बना लिया है.

चालान के विरोध में सड़कों पर उतरे ट्रांसपोर्टर, जबरन रुकवाते रहे टैक्‍सी-ऑटो
विभिन्‍न शहरों से लगातार ऐसे मामले सामने आ रहे हैं, जहां वाहन चालक यातायात पुलिस कर्मियों को अपना निशाना बना रहे हैं. (फाइल फोटो)

नई दिल्‍ली: दिल्ली-एनसीआर में ट्रांसपोर्टरों की हड़ताल है. हड़ताल की वजह से सभी तरह की कॉमर्शियल गाड़ियां सड़कों से गायब है. यानि न तो आज आपको ओला उबर जैसी कैब्स की सर्विस मिल रही हैं और ना हीं ऑटो और टैक्सियां. हड़ताल में स्कूल बसों को चलाने वाले ट्रांसपोर्टर भी शामिल हैं. इसको देखते हुए दिल्ली NCR के कई स्कूलों में छुट्टी है. हड़ताली ट्रांसपोर्टर सरकार से मोटर व्हीकल कानून में बढ़ाए गए जुर्माने को कम करने की मांग कर रहे हैं.

उल्‍लेखनीय है कि नए मोटर व्हीकल एक्ट को लेकर ट्रांसपोर्टर हड़ताल पर हैं. नए मोटर व्‍हीकल एक्‍ट का  विरोध कर रहे ट्रांसपोर्टर का आरोप है कि पुलिस इस नए नियम के नाम पर गुंडागर्दी कर रही है. बावजूद इसके हड़ताल के दौरान की जो वीडियो सामने आई हें वह बेहद हैरान करने वाली हैं. पहला मामला, गुजरात के अहमदाबाद का है. जहां नशे में धुत एक युवक ने ट्रैफिक पुलिसकर्मी को ही पीट दिया. दरअसल, शराब के नशे में धुत दो युवक सड़क पर एक व्यक्ति से मारपीट कर रहे थे.

यह भी पढ़ें: उड़ीसा में कटा देश का सबसे बड़ा ट्रैफि‍क चालान, जुर्माने की रकम जानकर आप भी कहेंगे OMG

LIVE TV...

ट्रैफिक पुलिस के जवान ने जब इन्हें रोकने की कोशिश की, तो उन्होंने उसे ही पीट दिया. हौरान करने वाली बात ये है कि वहां खड़े लोग वीडियो बनाते रहे, लेकिन किसी ने इन लोगों को रोकने की कोशिश नहीं की. यहां गौर करने वाली बात ये भी है कि गुजरात में शराब पर पाबंदी भी है. इसके बावजूद इन लोगों की हिम्मत देखिए कि ये पहले तो शराब पीते हैं, फिर सड़क पर आकर मारपीट करते हैं. यहीं, यहा ऐसे लोग भी है, जो नए ट्रैफिक नियम के खिलाफ सबसे ज्यादा हंगामा करते हैं.