close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

उदित राज का तंज, 'यहां के लोग 'अंधभक्त' नहीं, इसलिए BJP को नहीं मिल रही सीट'

लोकसभा चुनाव 2019 के लिए बीजेपी से टिकट न मिलने पर कांग्रेस में शामिल होने वाले उदित राज एक ट्वीट किया है जो बीजेपी समर्थकों को रास नहीं आ रहा है.

उदित राज का तंज, 'यहां के लोग 'अंधभक्त' नहीं, इसलिए BJP को नहीं मिल रही सीट'
बीजेपी समर्थकों और पार्टी कार्यकर्ताओं ने उदित राज को जमकर खरी-खोटी सुनाई..

नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव 2019 के लिए बीजेपी की ओर से टिकट न मिलने पर कांग्रेस में शामिल होने वाले उदित राज एक बार फिर से विवादित बयान को लेकर सोशल मीडिया के निशाने पर हैं. उत्तर-पश्चिमी दिल्ली से लोकसभा सदस्य उदित राज ने सोमवार को अपने ट्वीट में कहा कि बीजेपी समर्थकों पर निशाना साधा. 

उदित राज ने अपने ट्वीट में लिखा, "केरल में भाजपा आज तक 1 भी सीट नही जीत पाई, जानते हैं क्यों? क्योंकि वहां के लोग शिक्षित हैं, अंधभक्त नही." उदित राज ने एक और ट्वीट किया है जिसमें उन्होंने एग्जिट पोल पर सवाल उठाते हुए कहा, "TV सर्वे भाजपा को जिता रहे हैं ताकि विपक्ष निरास हो जाए और एक जुटता का प्रयास ना करे ।एक वजह और हो सकती है की EVM का खेल किया जाए."

Udit Raj

उदित राज का ट्वीट बीजेपी समर्थकों और पार्टी कार्यकर्ताओं को रास नहीं आया. कई समर्थकों ने उन्हें जमकर खरी-खोटी सुनाई. बीजेपी समर्थक चौकीदार नरेंद्र शिवाजी पटेल ने लिखा, "अपने frustration का इजहार करके दिल्ली की जनता को अनपढ़ कहना चाहते हो!!! जिन्होंने आपको चुना था !!! बताइए न प्लीजजजजज.....ऐसी परिस्थितियों में अपनी मूर्खता का प्रदर्शन करने से उत्तम होगा कि आत्म चिंतन करें और बेवजह बोलने से बचें. बिन माँगी सलाह है, क्योंकि आप भी कभी हमारे थे." 

 

एक अन्य यूजर आशीष सोनकर ने पलटवार करते हुए कहा, "आपके कहने का अर्थ है.. शिक्षित लोग BJP को VOTE नहीं देते... केवल भक्त लोग देते हैं... गुजरात, UP,MP,राजस्थान, में BJP लगभग 90% seat पाई.. यहाँ तक कि दिल्ली में तो 100% BJP Seat जीती हैं.. आपका मतलब यह है  कि यहाँ के लोग अशिक्षित है?" 

बीजेपी समर्थक अतुल त्यागी ने उदित राज को जवाब देते हुए लिखा, "इसके हिसाब से दिल्ली, हरियाणा, यूपी समेत पूरे देश के लोग अनपढ़ हैं बस केरल को छोड़कर." 

हालांकि यह पहला मौका नहीं है कि उदित राज ने बीजेपी और उसके समर्थकों को निशाने पर लिया हो. जब से उन्होंने पार्टी का साथ छोड़ा है, लगातार विवादित बयान दे रहे हैं. इससे पहले उन्होंने कहा था बीजेपी को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद जैसा ही दलित चाहिए. उन्होंने राष्ट्रपति पर भी आरोप लगाया और कहा कि दलित होने के बावजूद उन्होंने दलितों के लिए कोई काम नहीं किया.