भारत के खिलाफ नापाक साजिश, ISI की मदद से ये दो आतंकी संगठन बना रहे हैं 'बड़ा प्लान'

सूत्रों के मुताबिक जैश और लश्कर की एक बैठक हो चुकी है. 

भारत के खिलाफ नापाक साजिश, ISI की मदद से ये दो आतंकी संगठन बना रहे हैं 'बड़ा प्लान'
(प्रतीकात्मक फोटो)

नई दिल्ली: सुरक्षा एजेंसियों को खुफिया जानकारी मिली है कि भारत में हमले के लिए लश्कर-ए-तैयबा (Lashkar-e-Taiba) और जैश-ए-मोहम्मद (Lashkar-e-Taiba) ने हाथ मिला लिया है. इन दोनों आतंकियों की मदद कर रही है पाकिस्तान (Pakistan) की खुफिया एजेंसी आईएसआई (ISI). ये तीनों मिलकर भारत (India) के खिलाफ बड़ा प्लान बना रहे हैं.

आईएसआई के साथ मिलकर बड़ा प्लान तैयार कर रहे हैं.  सूत्रों के मुताबिक आमिर हमजा जमात उद दावा के जनरल सेकेट्री जैश और लश्कर के कमांडरों के साथ बैठक बहावलपुर में बैठक की.

इस बैठक में मसूद अजह के भाई मौलाना अम्मार भी शामिल हुआ. जैश-लश्कर दोनों मिलकर ऑपरेशन की रणनीति तैयार कर रहे हैं. गर्मियों से पहले आतंकी तंजीमे अपने होमवर्क में जुट गई हैं. 

बता दें पिछले दिनों सुरक्षाबलों ने कई आतंकियों को मुठभेड़ में मार गिरया है. इससे पहले दक्षिण कश्मीर के त्राल में गुलशन पोरा में रविवार (12 जनवरी) को सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में तीन आतंकवादियों की मौत हो गई. आतंकवादियों की पहचान उमर फयाज लोन उर्फ हमद खान, आदिल बशीर मीर उर्फ अबु दुजाना और फैजान हामिद के रूप में हुई है. सभी त्राल के रहने वाले हैं. उमर और आदिल जहां हिजबुल मुजाहिदीन के संपर्क में थे, फैजान जैश-ए-मोहम्मद के संपर्क में था.

दक्षिण कश्मीर में मंगलवार (7 जनवरी) को सुरक्षा बलों से मुठभेड़ में हिजबुल मुजाहिदीन का एक आतंकवादी मारा गया। पुलिस ने बताया कि इससे पहले पिछली मुठभेड़ 40 दिन पहले हुई थी। पुलिस ने बताया कि अनंतनाग निवासी आतंकवादी जाहिद हसन गधांजी संगठन में कुछ दिन पहले ही शामिल हुआ था और राज्य पुलिस, सेना और सीआरपीएफ द्वारा चारसू क्षेत्र में संयुक्त अभियान चलाने के दौरान उसने समर्पण करने से इंकार कर दिया था।