NDA के शासन में फोन कॉल्स से एनपीए पैदा हुए : कांग्रेस

जयराम रमेश ने ऊर्जा क्षेत्र से जुड़ी कई कंपनियों द्वारा कोयला आयात में किए गए 29 हजार करोड़ रुपये के घोटाले के मामले में सरकार पर जांच को आगे नहीं बढ़ने देने का आरोप लगाया.

NDA के शासन में फोन कॉल्स से एनपीए पैदा हुए : कांग्रेस
कांग्रेस के वरिष्ठ नेता जयराम रमेश ने कोयला घोटाले और एनपीए को लेकर बीजेपी को जिम्मेदार ठहराया है
Play

नई दिल्ली : कांग्रेस ने कहा कि फोन कॉल्स से गैर-निष्पादित संपत्ति (एनपीए) राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) के शासन काल में पैदा हुआ, क्योंकि इसने पिछले तीन साल में एमएसएमई सेक्टर में एनपीए 6.4 फीसदी से बढ़कर 9.4 फीसदी हो गया. 

कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने कहा, "प्रधानमंत्री ने ही बयान दिया कि एनपीए फोन कॉल्स से (संप्रग के शासन में) एनपीए पैदा हुआ. उन्होंने कहा कि एनपीए फोन कॉल्स के ही कारण पैदा हुआ."

रमेश ने कहा, "मैं उनसे (मोदी से) पूछना चाहता हूं कि वह जब प्रधानमंत्री बने थे तो एमएसएमई सेक्टर में एनपीए 6.4 फीसदी था. पिछले तीन साल में 6.4 फीसदी से बढ़कर 9.4 फीसदी कैसे हो गया. प्रधानमंत्रीजी को कभी कभी सच भी बोलना चाहिए."

कोयला घोटाले की जांच के लिए बने एसआईटी
जयराम रमेश ने ऊर्जा क्षेत्र से जुड़ी कई कंपनियों द्वारा कोयला आयात में किए गए 29 हजार करोड़ रुपये के घोटाले के मामले में सरकार पर जांच को आगे नहीं बढ़ने देने का आरोप लगाया और कहा कि समयबद्ध जांच सुनिश्चित करने के लिए एसआईटी का गठन किया जाना चाहिए.

उन्होंने दावा किया कि सरकार ने इस मामले की जांच कर रहे राजस्व खुफिया निदेशालय (डीआरआई) को गत चार वर्षों के दौरान जरूरी कागजात हासिल करने में मदद नहीं की क्योंकि इस मामले में उसके एक पंसदीदा उद्योगपति की कंपनी भी शामिल हैं. जयराम रमेश ने कहा, ‘अक्तूबर, 2014 में डीआरआई ने बताया था कि उसने कोयले के आयात में घोटाले की जांच शुरू की है। 31 मार्च, 2016 को डीआरआई ने कहा कि इस मामले में 40 कंपनियों के खिलाफ जांच चल रही है और यह 29 हजार करोड़ रुपये का घोटाला है.’ 

कांग्रेस नेता ने कहा, ‘इस मामले से जुड़ी एक कंपनी ने सिंगापुर की एक अदालत में जाकर कहा कि भारतीय स्टेट बैंक की सिंगपुर शाखा से कागजात डीआरआई को देने पर रोक लगाई जाए, हालांकि हाल ही में कंपनी को इस मामले में हार का सामना करना पड़ा था. अब इस कंपनी ने मुंबई उच्च न्यायालय में याचिका दायर कर दी है.’ 

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.