close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बाबुल सुप्रियो ने लगाया ममता बनर्जी पर आरोप, कहा- सीएम दे रही हैं हिंसा को बढ़ावा

पश्चिम बंगाल में हिंसा का दौर बढ़ता जा रहा है. केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रीयो ने पश्चिम बंगाल में बीजेपी कार्यकर्ताओं की मौत के लिए सीएम ममता बनर्जी को जिम्मेदार ठहराया.

बाबुल सुप्रियो ने लगाया ममता बनर्जी पर आरोप, कहा- सीएम दे रही हैं हिंसा को बढ़ावा
केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो ने कहा कि इस सरकार के पास सत्ता में बने रहने का कोई नैतिक आधिकार नहीं है.

कोलकाता: लोकसभा चुनाव 2019 के बाद से ही पश्चिम बंगाल में जारी हिंसा के बीच बीजेपी सांसद और केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर गंभीर आरोप लगाए हैं. न्यूज एजेंसी एएनआई के अनुसार, बाबुल सुप्रियो ने आरोप लगाते हुए कहा कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी खुद ही राज्य में हिंसा को बढ़ावा दे रही हैं. सुप्रियो ने कहा कि हिंसा के लिए सीएम बनर्जी ने पार्टी कार्यकर्ताओं और पुलिस को लगा रखा है. उन्होंने कहा कि यह एक और चौंकाने वाला रहस्योद्घाटन है कि आरोपियों का रोहिंग्या लोगों से संपर्क है. उन्होंने कहा कि इस सरकार के पास सत्ता में बने रहने का कोई नैतिक आधिकार नहीं है.

पश्चिम बंगाल में आए दिन सत्तारूढ टीएमसी और बीजेपी के बीच टकराव जारी है. इसी के साथ राज्य में हिंसा का दौर भी बढ़ता जा रहा है. केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रीयो ने पश्चिम बंगाल में बीजेपी कार्यकर्ताओं की मौत के लिए सीएम ममता बनर्जी को जिम्मेदार ठहराया. इससे पहले बीजेपी नेता मुकुल रॉय ने संदेशखली में हुई हिंसा में तीन लोगों के मारे जाने के बाद मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर आरोप लगाया कि उन्होंने अपने भाषणों के जरिए बीजेपी के समर्थकों पर हमले के लिए उकसाया.

बीजेपी नेता बशीरहाट उपसंभाग के भंगीपाड़ा गांव में आए और उन्होंने हिंसा में मारे गए प्रदीप मंडल और सुकांत मंडल के परिजन से मुलाकात की. उन्होंने कहा कि वह पार्टी अध्यक्ष अमित शाह से अपील करेंगे कि पीड़ितों के परिजन की हरसंभव सहायता की जाए. रॉय ने आरोप लगाया कि अगर इस हिंसा के लिए कोई दोषी है तो वह हैं ममता बनर्जी. उनके ही निर्देश पर इन हत्याओं के संबंध में किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है.

रॉय ने लगाए गंभीर आरोप 
उन्होंने दावा किया कि प्रदीप और सुकांत दोपहर को अपने घरों में सो रहे थे. तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ता उन्हें घसीट कर बाहर ले गए और मार डाला. रॉय ने आरोप लगाया कि झड़प को रोकने के लिये पुलिस ने कुछ भी नहीं किया है और अब तक इस मामले में कोई गिरफ्तारी नहीं की गई है.

शनिवार को उत्तर 24 परगना जिले के संदेशखली में तृणमूल कांग्रेस और बीजेपी कार्यकर्ताओं के बीच हुई हिंसा में कम से कम तीन लोगों की मौत हो गई थी.  इन झगड़ों में मारे गए तीसरे व्यक्ति कयूम मुल्ला के बारे में तृणमूल का दावा है कि वह उनका सक्रिय कार्यकर्ता था.