संसदीय इतिहास का अनोखा दिन, निपटाया गया सौ फीसदी कामकाज

संसदीय मामलों के मंत्री अनंत कुमार ने शुक्रवार को लोकसभा में कहा कि तीन अगस्त का दिन संसदीय इतिहास के लिए अनोखा दिन था जिस दिन लोकसभा में सौ फीसदी कामकाज निपटाया गया. अनंत कुमार ने लोकसभा में कहा कि तीन अगस्त को सदन की कार्यसूची में विचार और पारित करने के लिए तीन विधेयक सूचीबद्ध थे और तीनों को ही चर्चा करने के बाद पारित किया गया. 

संसदीय इतिहास का अनोखा दिन, निपटाया गया सौ फीसदी कामकाज
तीन अगस्त को लोकसभा ने सौ फीसदी कामकाज हुआ. (file)

नई दिल्ली : संसदीय मामलों के मंत्री अनंत कुमार ने शुक्रवार को लोकसभा में कहा कि तीन अगस्त का दिन संसदीय इतिहास के लिए अनोखा दिन था जिस दिन लोकसभा में सौ फीसदी कामकाज निपटाया गया. अनंत कुमार ने लोकसभा में कहा कि तीन अगस्त को सदन की कार्यसूची में विचार और पारित करने के लिए तीन विधेयक सूचीबद्ध थे और तीनों को ही चर्चा करने के बाद पारित किया गया. उन्होंने प्रश्नकाल के बाद शून्यकाल की परंपरा को बनाए रखने की मांग कर रहे कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे से भारतीय पेट्रोलियम और ऊर्जा संस्थान विधेयक 2017 को पहले चर्चा कर पारित करने की अपील करते हुए कहा कि यह एक महत्वपूर्ण विधेयक है और इसे पारित करने के बाद शून्यकाल लिया जा सकता है.

100 फीसदी कामकाज निपटाया गया 

इसी क्रम में उन्होंने कहा कि तीन अगस्त को लोकसभा ने सौ फीसदी कामकाज निपटाया. उन्होंने कहा, ‘‘यह संसदीय इतिहास का अनोखा दिन था जब कार्यसूची का सारा कामकाज निपटाया गया.’’ हालांकि उन्होंने खड़गे की मांग पर अध्यक्ष सुमित्रा महाजन के इस निर्देश से सहमति जताई कि सरकार भविष्य में इस प्रकार शून्यकाल को स्थगित कर कोई प्रस्ताव या विधेयक चर्चा के लिए लाने से बचेगी.

सरकार संसदीय परपंरा को ध्वस्त कर रही है : खड़गे

इससे पूर्व खड़गे ने कहा कि तीन अगस्त को भी सदन में शून्यकाल नहीं हुआ था और आज भी शून्यकाल नहीं लिया जा रहा. उन्होंने कहा कि यह ठीक नहीं है. उन्होंने आरोप लगाया कि सरकार संसदीय परंपरा को ध्वस्त कर रही है. अनंत कुमार ने कहा कि आज शून्यकाल न लें. किन्तु बाद में लोकसभा अध्यक्ष ने कहा कि विधेयक के बाद शून्यकाल के मुद्दों को लिया जाएगा.