11 साल के स्कूल छात्र ने अपनी समस्या को लेकर PM को लिखा खत, विभाग ने लिया संज्ञान

उत्तर प्रदेश के उन्नाव निवासी एक स्कूली छात्र नयन सिंह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चिट्ठी लिखी है। अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, सातवीं में पढ़ने वाले 11 साल के नयन ने रेलवे क्रोसिंग नहीं होने की वजह से रोज स्कूल जाने में पैदा हो रही दिक्कतों को अवगत कराने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चिट्ठी लिखी। इस चिट्ठी के बारे में उसके परिवार को उस वक्त पता चला जब उत्तरी रेलवे के डिविजन इंजीनियर का जवाब आया जिसमें प्रधानमंत्री को लिखे नयन सिंह के खत का जिक्र किया गया था।

11 साल के स्कूल छात्र ने अपनी समस्या को लेकर PM को लिखा खत, विभाग ने लिया संज्ञान

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश के उन्नाव निवासी एक स्कूली छात्र नयन सिंह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चिट्ठी लिखी है। अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, सातवीं में पढ़ने वाले 11 साल के नयन ने रेलवे क्रोसिंग नहीं होने की वजह से रोज स्कूल जाने में पैदा हो रही दिक्कतों को अवगत कराने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चिट्ठी लिखी। इस चिट्ठी के बारे में उसके परिवार को उस वक्त पता चला जब उत्तरी रेलवे के डिविजन इंजीनियर का जवाब आया जिसमें प्रधानमंत्री को लिखे नयन सिंह के खत का जिक्र किया गया था।

रिपोर्ट के मुताबिक, चंद्रशेखर आजाद इंटरमीडिएट कॉलेज में पढ़ने वाले नयन ने पिछले साल सितंबर में प्रधानमंत्री को खत लिख कर अवगत कराया कि उसके घर और स्कूल के बीच में पढ़ने वाले रेलवे स्टेशन पर क्रॉसिंग नहीं होने की वजह से उसे और 200 अन्य छात्रों को रोज स्कूल जाने में दिक्कत का सामना करना पड़ता है। रेलवे क्रॉसिंग नहीं होने की वजह से सभी स्कूली छात्रों को स्कूल पहुंचने के लिए  2 किलोमीटर की अतिरिक्त दूरी तय करनी पड़ती है। विभाग ने नयन के खत का संज्ञान लिया है।  उत्तरी रेलवे के एक सीनिय अधिकारी का कहना है कि रेलवे की नई पॉलीसी के मुताबिक तब तक रेलवे क्रॉसिंग और ऑवरब्रिज नहीं बन सकता जब तक राज्य सरकार रेलवे मंत्रालय से इस संबंध में निवेदन नहीं करती।