UP: 1 हजार लोगों के धर्मांतरण की साजिश का बड़ा खुलासा, ISI की फंडिंग के मिले सबूत

Forced Conversion In UP: एडीजी प्रशांत कुमार ने कहा कि आरोपियों ने नोएडा, कानपुर, मथुरा और वाराणसी समेत अन्य कई जगहों पर धर्म परिवर्तन कराया है. देश के अन्य प्रदेशों में भी यह रैकेट चलाया जा रहा है.

UP: 1 हजार लोगों के धर्मांतरण की साजिश का बड़ा खुलासा, ISI की फंडिंग के मिले सबूत
एडीजी यूपी लॉ एंड ऑर्डर प्रशांत कुमार (फाइल फोटो) | साभार- PTI

अनुज मिश्रा, लखनऊ: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में धर्म परिवर्तन की एक बड़ी साजिश का खुलासा हुआ है. यूपी एटीएस (UP ATS) ने दिल्ली के जामिया नगर के रहने वाले दो लोगों को गिरफ्तार किया है, जो इस साजिश में शामिल थे. यूपी एटीएस को धर्मांतरण की साजिश के पीछे पाकिस्तान (Pakistan) की खुफिया एजेंसी आईएसआई (ISI) की फंडिंग के सबूत मिले हैं.

यूपी में सुनियोजित तरीके से कराया जा रहा धर्म परिवर्तन

उत्तर प्रदेश के एडीजी प्रशांत कुमार (लॉ एंड ऑर्डर) ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि 2 जून 2021 को डासना स्थित एक मंदिर में दो लोगों ने अवैध रूप से घुसने की कोशिश की थी. इस मामले में उनको हिरासत में लिया गया था. आरोपियों का नाम विपुल विजयवर्गीय और काशिफ है. उनसे पूछताछ की गई तो इस तरह की सूचनाएं मिली कि एक बड़ा गेम चल रहा है, जो कि लोगों का सुनियोजित तरीके से धर्म परिवर्तन करा कर और काफी प्रलोभन देकर पैसे वगैरह देने का काम करता है.

1 हजार लोगों का धर्मांतरण कराया गया

उन्होंने आगे कहा कि जांच में एक शख्स गौतम का नाम सामने आया है, वह बाटला हाउस, जामिया नगर का रहने वाला है. इसने खुद भी अपना धर्म परिवर्तन किया है. पूछताछ और गहराई से जांच के बाद इनके साथी जहांगीर आलम की गिरफ्तारी की गई. जिससे पता चला कि उन्होंने तकरीबन 1,000 लोगों का प्रलोभन देकर या डरा-धमका कर धर्म परिवर्तन कराया है.

ये भी पढ़ें- सुपरफास्ट स्पीड के लिए जोमैटो बॉय को इनाम में मिली बाइक, इतने कम समय में पहुंचाया था ऑर्डर

समाज के मजबूर लोगों को बनाया जा रहा निशाना

एडीजी प्रशांत कुमार ने कहा कि लखनऊ एटीएस ने संबंधित धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है, उसके आधार पर दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है, जो नामजद थे. इसके अलावा एक संस्था है और अन्य लोग भी हैं जो कि नामजद हैं. उनके खिलाफ भी केस दर्ज किया गया है. सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि दिव्यांग बच्चों और महिलाओं का भी धर्म परिवर्तन कराया गया है. महिलाओं का धर्म परिवर्तन करा कर उनकी शादी दूसरे धर्म के लोगों से कराई है ताकि बाद में इस चीज की भी कोई गुंजाइश न बचे कि वह अपने धर्म में वापस आ सकें.

उन्होंने कहा कि इन लोगों ने नोएडा, कानपुर, मथुरा और वाराणसी समेत अन्य कई जगहों पर धर्म परिवर्तन कराया है. देश के अन्य प्रदेशों में भी यह रैकेट चलाया जा रहा है.

ये भी पढ़ें- गाजियाबाद दाढ़ी कांड: नोटिस का जवाब देने पर मजबूर हुआ ट्विटर इंडिया, जानिए क्या कहा

इसी तरह एक छात्र आदित्य गुप्ता, जिसके माता-पिता से भी पुलिस ने पूछताछ की तो उन्होंने बताया कि उन्होंने अपने बच्चे के गुमशुदगी की खबर दर्ज करवाई थी. परिजनों ने यह भी बताया कि उनका बच्चा मूक-बधिर है. उसका धर्म परिवर्तन करा कर दक्षिण भारत के किसी राज्य में ले जाया गया, जिसके बारे में उनके मूक-बधिर बच्चे ने मोबाइल से वीडियो कॉल के जरिए बताया है.

LIVE TV

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.