सिनेमाघरों में राष्ट्रगान के बाद जरूरी होगा कुम्भ मेले का 'लोगो' दिखाना!

नए लोगो में स्वास्तिक चिह्न बना हुआ है और साधुओं का एक समूह पवित्र संगम में स्नान करता हुआ दिख रहा है.

सिनेमाघरों में राष्ट्रगान के बाद जरूरी होगा कुम्भ मेले का 'लोगो' दिखाना!
सरकारी पत्रों में कुम्भ का लोगो छापे जाने के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आदेश के बाद किया गया है. (फाइल फोटो)

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के सिनेमाघरों में जल्द ही फिल्म शुरू होने से पहले सुनाये जाने वाले राष्ट्रगान के बाद कुम्भ मेले का नया प्रतीक चिह्न (लोगो) भी अनिवार्य रूप से दिखाया जाएगा. प्रदेश के पर्यटन विभाग के प्रमुख सचिव अवनीश अवस्थी ने बुधवार (3 जनवरी) को बताया कि प्रदेश के सिनेमाघरों में राष्ट्रगान के बाद कुम्भ मेले का लोगो भी प्रदर्शित करना होगा. इसे जल्द ही अमल में लाया जाएगा. ऐसा इसलिये किया जाएगा ताकि लोग इस धार्मिक आयोजन के उद्देश्य और महत्व को जान सकें.

उन्होंने बताया कि नए लोगो में स्वास्तिक चिह्न बना हुआ है और साधुओं का एक समूह पवित्र संगम में स्नान करता हुआ दिख रहा है.

यह निर्णय सभी सरकारी पत्रों में कुम्भ का लोगो छापे जाने के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आदेश के बाद किया गया है. कुम्भ मेले को हाल में यूनेस्को की विश्व धरोहरों की फेहरिस्त में शामिल किया गया था. यह मेला जनवरी 2019 में आयोजित किया जाएगा.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस विशाल धार्मिक कार्यक्रम की पुख्ता तैयारियां करने के आदेश पहले ही जारी कर दिए हैं.