UP: एडीजी के सामने पिस्टल लोड नहीं कर पाई महिला दारोगा, जानें फिर क्या हुआ

मेरठ जोन के ADG जब बागपत शहर में कोतवाली का निरिक्षण करने पहुंचे तो वो हैरान हो गए. उन्होंने सभी दरोगाओं को अपनी सर्विस पिस्टल खोलकर वापस बंद करने के लिए कहा. लेकिन एक महिला दरोगा अपनी पिस्टल को खोल ही नहीं पाई. जानिए फिर आगे क्या हुआ. 

UP: एडीजी के सामने पिस्टल लोड नहीं कर पाई महिला दारोगा, जानें फिर क्या हुआ
प्रतीकात्मक तस्वीर.

बागपत: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के बागपत (Baghpat) जिले से पुलिस की नाकामयाबी का एक वीडियो सामने आया है, जो इस वक्त सोशल मीडिया पर बहुत तेजी से वायरल हो रहा है. इस वीडियो में दिखाई दे रहे यूपी एडीजी (UP ADG) ने जब एक महिला दरोगा से पिस्टल लोड करने के लिए कहा तो उसके पसीने छूट गए. काफी कोशिशों के बाद भी महिला दरोगा पिस्टल लोड नहीं कर पाई.

पिस्टल लोड नहीं कर पाई महिला दरोगा

महिला दरोगा सुमन इस वक्त कोतवाली बागपत में तैनात हैं, जिन्हें अपनी सर्विस पिस्टल को खोलना और बंद करना नहीं आता. इस सच्चाई से पर्दा उस वक्त उठा जब जनपद बागपत की शहर कोतवाली का निरीक्षण करने मेरठ जोन के एडीजी राजीव सभरवाल (ADG Rajeev Sabharwal) पहुंच गए. यहां उन्होंने कोतवाली में तैनात दरोगाओं से उनकी सर्विस रिवॉल्वर को खोलने ओर बन्द करने के लिए कहा. आदेश मिलते ही सभी दरोगा इस काम में जुट गए. लेकिन दरोगा सुमन अपनी पुलिस ट्रेनिंग भूल चुकी थीं. शायद इसीलिए वो काफी देर तक पिस्टल को खोलने की कोशिश करती रहीं पर नाकाम रहीं.

ये भी पढ़ें:- वैष्णो देवी की फोटो वाला सिक्का करा सकता है तगड़ी कमाई, मिलेंगे 10 लाख

बागपत SP को दिए टेस्ट लेने के आदेश

महिला दरोगा की इस नाकामयाबी को देख एडीजी सभरवाल गुस्से में आ गए. उन्होंने दरोगा सुमन को चेताया कि वह इस तरह से लापरवाह न बनें. इतना ही नहीं, एडीजी के गुस्से का सामना बागपत जिले के एसपी अभिषेक सिंह (SP Abhishek Singh) को भी करना पड़ा. एडीजी ने एसपी से कहा कि वो पुलिसकर्मियों को लापरवाही न बरतने दें और उनका समय-समय पर एक टेस्ट लेते रहें. यूपी पुलिस में तैनात महिला दरोगा की इस नाकामयाबी के बाद एडीजी ने मीडिया के सामने कोई भी बयान देने से साफ इनकार कर दिया, और वहां से चले गए.

VIDEO

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.