बावरिया गिरोह का इनामी बदमाश गिरफ्तार, 2017 से थी पुलिस को तलाश

आरोपी साल 2017 में गोंडा में एक बैंक के गार्ड की गोलीमार हत्या के बाद 50 लाख की डकैती के मामले में फरार था, जिसकी तलाश पुलिस को लंबे समय से थी.

बावरिया गिरोह का इनामी बदमाश गिरफ्तार, 2017 से थी पुलिस को तलाश
पुलिस हिरासत में आरोपी.

नोएडा: पश्चिमी उत्तर प्रदेश में एसटीएफ ने बुधवार (08 मई) को बावरिया गिरोह के एक लाख रुपए के एक इनामी बदमाश को गिरफ्तार कर उसके पास से एक देसी तमंचा, कारतूस और एक मोटरसाइकिल बरामद की है. एसटीएफ पूर्व में, इस बदमाश के आधा दर्जन साथियों को गिरफ्तार कर चुकी है. बताया जा रहा है कि आरोपी साल 2017 में गोंडा में एक बैंक के गार्ड की गोलीमार हत्या के बाद 50 लाख की डकैती के मामले में फरार था, जिसकी तलाश पुलिस को लंबे समय से थी.

पश्चिमी यूपी एसटीएफ के पुलिस अधीक्षक (एसपी) दिनेश कुमार सिंह ने बताया कि बुधवार को तड़के फेस दो थाना क्षेत्र से एक सूचना के आधार पर पश्चिमी उप्र एसटीएफ ने बावरिया गिरोह के एक लाख रुपये के इनामी बदमाश सूरज को गिरफ्तार किया. उसका एक साथी भाग निकला.

 

एसपी ने बताया कि सूरज के पास से एक देसी तमंचा, कारतूस और एक मोटरसाइकिल बरामद की गई है. पुलिस ने बताया कि पांच मई को सूरजपुर थाना क्षेत्र में एसटीएफ और बावरिया गिरोह के बदमाशों के बीच हुई मुठभेड़ में एक बदमाश बिजवा पकड़ा गया था. उस पर एक लाख रुपये का इनाम घोषित था. तब सूरज बच निकला था.

उन्होंने बताया कि पूछताछ के दौरान पता चला है कि इस गिरोह ने साल 2017 में गोंडा जनपद में एक बैंक में 50 लाख रुपये की डकैती डाली और विरोध करने पर बैंक में तैनात गार्ड की गोली मारकर हत्या कर दी थी. आपको बता दें कि गिरोह के सदस्यों पर राजस्थान, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, दिल्ली में लूटपाट और डकैती के दर्जनों मामले चल रहे हैं.