UP: कन्नौज से मिले निजामुद्दीन मरकज में शामिल होने वाले 11 जमाती

ये 11 जमाती शामली से निजामुद्दीन गए थे जहां से वापसी में ये लोग कन्नौज की मस्जिद में आकर रुके थे. खुफिया विभाग की सूचना पर प्रशासन ने सभी का  मेडिकल चेकअप कराया जिसमें सभी जमाती स्वस्थ पाए गए. फिलहाल सभी को मस्जिद में क्वारंटाइन किया गया है.

UP: कन्नौज से मिले निजामुद्दीन मरकज में शामिल होने वाले 11 जमाती
फाइल फोटो

कन्नौज: दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज में शामिल होने वाले 11 लोगों को कन्नौज से पकड़ लिया गया है. बता दें कि इन जमातियों को सदर कोतवाली के हाजीगंज मस्जिद से पकड़ा गया है. सभी 11 जमाती शामली से निजामुद्दीन गए थे जहां से वापसी में ये लोग कन्नौज की मस्जिद में आकर रुके थे. खुफिया विभाग की सूचना पर प्रशासन ने सभी का  मेडिकल चेकअप कराया जिसमें सभी जमाती स्वस्थ पाए गए. फिलहाल सभी को मस्जिद में क्वारंटाइन किया गया है.

ये भी पढ़ें- तबलीगी जमात के 89 लोग आगरा में पकड़े गए, पुलिस ने मुस्लिम बस्तियों में शुरू किया ऑपरेशन क्लीन

आपको बता दें कि प्रयागराज से भी 9 लोगों को पकड़ा गया है.  पकड़े गए 9 मौलाना 17 मार्च को दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज में हुए प्रोग्राम में शामिल होकर यह सभी प्रयागराज के लिए निकले थे जो 22 मार्च को प्रयागराज के रेलवे स्टेशन साइड अब्दुल्लाह मरकज में रुके हुए थे. जिसमें 7 ऐसे लोग हैं जो इंडोनेशिया के बताए जा रहे हैं, जबकि एक केरला एक महाराष्ट्र का रहने वाला है.

दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज में कार्यक्रम में शामिल लोगों में से कोरोना वायरस के मरीज पाए जाने के बाद देशभर में हड़कंप मच गया. जिसके बाद प्रयागराज के अब्दुल्लाह मरकज के भी ऐसे लोगों को खोज निकाला गया है, जो दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज में हुए कार्यक्रम में शामिल हुए थे.

योगी सरकार की सख्ती के बाद उठाए गए ये कदम
योगी सरकार की सख्ती के बाद प्रयागराज के अब्दुल्ला मरकज पहुंची डीएम और एसएसपी के नेतृत्व में टीमों ने यहां से 9 बाहरी लोगों के अलावा 28 ऐसे लोग भी यहां पर पाए गए जो पिछले काफी समय से मरकज के अंदर ही रह रहे थे. 9 बाहरी वे लोग हैं जो दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज में शामिल होकर प्रयागराज पहुंचे थे.  जिसमें 7 इंडोनेशिया के हैं और एक-एक केरला और महाराष्ट्र के हैं. वहीं 9 ऐसे लोग हैं जो लॉकडाउन के बाद मरकज के अंदर बने मुसाफिर खाने में रुके हुए थे. बाकी 21 ऐसे लोग हैं जो मरकज की देखभाल के अलावा यहां पर खाना बनाने का काम कर रहे थे.

गौरतलब है कि प्रशासन ने फिलहाल सभी को यहां से निकालकर एंबुलेंस के जरिए कमला नेहरू के आइसोलेट वार्ड में भर्ती कराया है. जहां पर सभी की जांच चल रही है और मरकज में प्रशासन ने वक्ती तौर पर ताला लगवा दिया है. 

जिला प्रशासन के अधिकारियों का कहना है कि इनके जरिए यह जानकारी हासिल की जाएगी कि 22 तारीख से आज तक के बीच इन लोगों से कौन कौन और कहां-कहां पर मिला है, ऐसे लोगों को भी चिन्हित कर उन्हें भी आइसोलेट कराया जाएगा. जिससे कोरोना वायरस के लक्षण के प्रभाव को रोका जा सके. प्रयागराज के अब्दुल्ला मरकज से बड़ी संख्या में बाहरी लोगों को निकाल कर आइसोलेट कराए जाने के बाद जनपद में भी हड़कंप मचा हुआ है. 

प्रयागराज में नहीं हुई एक भी मरीज की पुष्टि
बता दें कि अभी तक प्रयागराज में एक भी कोरोना का पॉजिटिव मरीज नहीं पाया गया है जिससे यहां के लोग खुद को महफूज समझ रहे थे लेकिन दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज से लौटे लोगों के प्रयागराज में हफ्ते भर से ज्यादा का समय बिताए जाने के बाद इस बात की आशंका बढ़ गई है. 

Watch  LIVE TV-