close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

वाहन चालकों को महिला के झांसे में फंसाकर उगाही करते थे नोएडा के पुलिसवाले, ऐसे खुला खेल, हुए गिरफ्तार

यह गिरफ्तारी वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) के आदेश पर हुई. गिरफ्तार लोगों में ब्लैकमेल करने वाली दो महिलाएं भी शामिल हैं.

वाहन चालकों को महिला के झांसे में फंसाकर उगाही करते थे नोएडा के पुलिसवाले, ऐसे खुला खेल, हुए गिरफ्तार
यह गिरफ्तारी वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) के आदेश पर हुई. (फाइल फोटो)

नई दिल्‍ली/नोएडा : गौतमबुद्ध नगर में एक बार फिर खाकी वर्दी शर्मसार हुई है. लोगों के रक्षक पुलिसकर्मी खुद ही उनके भक्षक बन गए हैं. नोएडा पुलिस  को दागदार करने वाले ऐसे ही पुलिसकर्मियों को नोएडा पुलिस ने गिरफ्तार किया है.

नोएडा के सेक्टर-39 थाना क्षेत्र में आने वाले सेक्टर 44 चौकी इंचार्ज को उसके तीन कॉन्‍स्‍टेबलों के साथ पुलिस ने 50 हजार रुपये लेते हुए रंगे हाथ पकड़ा है. ये पुलिसकर्मी 2 महिलाओं और 6 अन्य गैंग के लोगों के साथ मिलकर लोगों को ब्लैकमेल करते थे. पुलिस ने कुल 15 लोगों को गिरफ्तार किया है. इन्होंने कितने लोगों से ब्लैकमेलिंग की है ये पता लगाने में पुलिस जुटी हुई है.

पुलिस के मुताबिक, करीब 3-4 दिन पहले कुछ लोगों ने वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक गौतमबुद्धनगर को सूचना दी कि थाना सेक्टर- 39 के सेक्टर- 44 पुलिस चौकी क्षेत्र के अंतर्गत कोई ऐसा गैंग है, जिसमें एक लड़की सेक्‍टर- 44 पुलिस चौकी क्षेत्र से जा रहे किसी व्यक्ति की कार को रूकवाकर उसकी कार मे बैठकर थोड़ी दूर चलकर ऐसी जगह उतरती थी, जहां सेक्टर- 44 पुलिस चौकी की पीसीआर खड़ी होती है. उतरने के बाद वो लड़कीपीसीआर पर तैनात पुलिसकर्मियों से शिकायत करती थी कि उसके साथ रेप हुआ है.

लाइव टीवी देखें...

इस सूचना पर पीसीआर पर तैनात पुलिसकर्मी उक्त लड़की एवं तथाकथित अभियुक्तों को चौकी पर लेकर आते थे, जहां पर लड़की पक्ष की तरफ से कुछ व्यक्ति आते थे और कथित अभियुक्त व्यक्तियों को ब्लेकमैलिंग कर चौकी इंचार्ज के माध्यम से फैसला करवाकर पैसे लेकर छुड़वा दिया जाता था.

इस सूचना पर नोएडा के एसएसपी ने अपने कुछ साथियों के साथ सेक्टर- 44 पुलिस चौकी पर उस वक़्त रेड की, जब चौकी इंचार्ज एक पीड़ित से पैसे ले रहा था. एसएसपी ने चौकी इंचार्ज समेत रंगे हाथ तीन आरक्षियों को 50 हजार रूपये लेते हुए गिरफ्तार कर लिया और जब उनसे पूछताछ हुई तो पूरे गैंग का खुलासा हुआ.

पुलिस ने इस मामले में कुल 15 लोगो की गिरफ्तारी की गई है, जिसमें चौकी इंचार्ज सेक्टर- 44 सुनील शर्मा, तीन आरक्षी मनोज, अजयवीर, देवेन्द्र, पीसीआर 50 के तीन प्राइवेट ड्राइवर व 2 महिलाओं की गिरफ्तारी शामिल है.