close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

उत्तराखंड: चमोली में 8 दिनों में 14 लोगों ने गवाई अपनी जान, 22 सड़कें बंद

चमोली में 8 दिनों में 14 लोगों ने अपनी जान गवाई है, जिसमें 6 लोगों ने लामबगड़, 6 लोगों ने घाट विकास खंड में और 2 लोगों ने देवाल विकास खंड में अपनी जान गवाई है 

उत्तराखंड: चमोली में 8 दिनों में 14 लोगों ने गवाई अपनी जान, 22 सड़कें बंद
(फाइल फोटो)

पुष्कर चौधरी​/चमोली /उत्तराखंड: चमोली में 8 दिनों में 14 लोगों ने अपनी जान गवाई है, जिसमें 6 लोगों ने लामबगड़, 6 लोगों ने घाट विकास खंड में और 2 लोगों ने देवाल विकास खंड में अपनी जान गवाई है साथ ही इस 8 दिनों की आपदाओं ने चमोली को झकजोर करके रख दिया है इस आपदा में किसीने अपनी माँ खोई तो किसने पिता और किसी ने अपना बेटा, बेटी तथा किसीने भाई बहिन खोए हैं. आठ दिनों की आपदा ने तो चमोली का नक्शा ही बदल दिया है जनपद के कई इलाकों में दूरसंचार, विजली, पानी की सेवाएं ठप पड़ी हैं,

वहीं जनपद के कई गांवों में आने जाने के रास्ते इस आपदा में ध्वस्त हो चुके हैं और साथ ही जिले को जोड़ने वाली 22 सड़कें भी बंद पड़ी हैं, जिससे ग्रमीण अपने घरों में कैद होकर रह गये हैं और घाट में तो विजली के कई पोल उखड़ गए हैं जिससे लोगों को आने जाने में खतरा बना हुआ है.

वहीं 10 अगस्त से अभी तक देवाल के फलदिया गांव की लापता माँ बेटी का शव नहीं मिल पाया है हालांकि जिले के मुख्य विकास अधिकारी का कहना है कि बहुत जल्द ही शवों को निकाला जायेगा. वहीं इस आपदा से बद्रीनाथ हाईवे भी कई जगहों पर छतिग्रस्त हुई है चमोली एसपी यसवंत सिंह चौहान का कहना है कि लामबगड़ स्लाइडिंग में बद्रीनाथ आने व जाने वाले यात्री लामबगड़ में पैदल ही जायेंगे और खाली गाड़ी को चालक ले जायेगा जिससे खतरा कम बना रहे.