मेरठ के मीट पैकेजिंग प्लांट में अमोनिया गैस रिसने से 20 बेहोश

मेरठ-हापुड़ मार्ग पर स्थित अल-आलिया मीट पैकेजिंग प्लांट में अमोनिया गैस के रिसाव के कारण 16 महिला कर्मचारियों समेत 20 लोग बेहोश हो गए। इन लोगों को अस्पताल ले जाया गया जहां चार को छोड़ कर शेष की हालत में सुधार बताया जा रहा है।

मेरठ : मेरठ-हापुड़ मार्ग पर स्थित अल-आलिया मीट पैकेजिंग प्लांट में अमोनिया गैस के रिसाव के कारण 16 महिला कर्मचारियों समेत 20 लोग बेहोश हो गए। इन लोगों को अस्पताल ले जाया गया जहां चार को छोड़ कर शेष की हालत में सुधार बताया जा रहा है।

जिलाधिकारी पंकज यादव ने आज बताया कि उन्होंने एसडीएम सदर रवीश गुप्ता को मामले की जांच कर रिपोर्ट देने के आदेश दिए हैं। उन्होंने बताया कि प्रदूषण विभाग से भी रिपोर्ट मांगी गई है कि मीट पैकेजिंग प्लांट का संचालन उपयुक्त मानकों के अनुरूप हो रहा था या नहीं। रिपोर्ट मिलने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

खरखौदा पुलिस का कहना है कि बीती रात जब यह हादसा हुआ उस समय करीब 50 मजदूर मीट पैकेजिंग में लगे थे। प्रत्यक्षदर्शी मजदूरों ने पुलिस को बताया ट्विजिंग चैंबर में अमोनिया गैस का रिसाव हुआ और देखते ही देखते 16 महिलाओं सहित 20 मजदूर बेहोश हो गए। शेष मजदूर सुरक्षित बाहर निकलने में कामयाब हो गए।

इस घटना के संबंध में कारखाने के सहायक निदेशक ने पुलिस में मामला दर्ज कराया। फैक्ट्री मालिक नगमा पत्नी हाजी इजलाल को आरोपित करते हुए भारतीय दण्ड संहिता की धारा 284 और 287 के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। पुलिस के अनुसार गैस रिसाव के कारणों का अभी पता नही चल सका है और इसकी जांच के लिए आज दौराला ऑर्गेनिक टीम वहां पहुंची है।