close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

नोएडा: लूट के मामले का पुलिस ने किया खुलासा, 3 गिरफ्तार

बुलंदशहर के आढ़त व्यापारी के दो मुनीमों से पांच जून को हुई 25 लाख रुपए की लूट के मामले में पुलिस ने तीन बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया.

नोएडा: लूट के मामले का पुलिस ने किया खुलासा, 3 गिरफ्तार
मेरठ के अपर पुलिस महानिदेशक प्रशांत कुमार ने यह जानकारी दी. (प्रतीकात्मक फोटो)

नोएडा: बुलंदशहर के आढ़त व्यापारी के दो मुनीमों से पांच जून को हुई 25 लाख रुपए की लूट के मामले में पुलिस ने मंगलवार को तीन बदमाशों को गिरफ्तार कर उनके पास से दस लाख 50 हजार रुपये बरामद किए हैं.

इस लूट में शामिल 25 हजार रुपए के एक इनामी बदमाश को थाना दादरी पुलिस ने सोमवार की रात एक मुठभेड़ के दौरान पकड़ा था. उसे पूछताछ में मिली सूचना के आधार पर आज तीनों बदमाश पकड़े गए.

मेरठ के अपर पुलिस महानिदेशक प्रशांत कुमार ने आज संवाददाताओं को बताया कि पांच जून को बुलंदशहर के आढ़ती इरफान के मुनीम कपिल शर्मा और अमित नोएडा में पैसा इकट्ठा करने आए थे. ये लोग 25 लाख रुपया इकट्ठा कर अपनी कार से वापस बुलंदशहर जा रहे थे. रामगढ़ फाटक के पास स्कॉर्पियो कार से आए बदमाशों ने हथियार दिखा कर कपिल और अमित से मारपीट की और इनसे 25 लाख रुपए नगद तथा उनकी कार लूट ली.

एडीजी ने बताया कि इस मामले की जांच कर रही थाना दादरी पुलिस ने आज तड़के सुनील उर्फ चुन्नू, उमेश कुमार तथा प्रमेंद्र उर्फ पिंटू को गिरफ्तार किया. उन्होंने बताया कि इनके पास से पुलिस ने आढ़त व्यापारी के मुनीमों से लूटे गए 25 लाख रुपए में से 10 लाख 50 हजार रुपए नगद, वैगनआर कार, देसी तमंचा और कारतूस बरामद किया है. उन्होंने बताया कि घटना में प्रयुक्त स्कॉर्पियो कार भी पुलिस ने बरामद की है. 

एडीजी ने बताया कि सोमवार की रात को पुलिस ने इस घटना में शामिल 25 हजार रुपए के इनामी बदमाश रोबिन को मुठभेड़ के दौरान गिरफ्तार किया था. पुलिस की गोली पैर में लगने से वह घायल हो गया था. उसके पास से एक लाख 60 हजार रुपए नगद बरामद किये गए . 

प्रशांत कुमार के अनुसार, पकड़े गए बदमाशों ने पूछताछ के दौरान बताया कि सुनील, परमेंद्र, उमेश जनपद बुलंदशहर की मंडी में आढ़ती हैं. वहीं पर इरफान का भी आढ़त का काम है. तीनों का व्यापार कुछ समय से मंदा चल रहा था, जबकि इरफान का व्यापार काफी अच्छा चल रहा था.

इन लोगों ने इरफान से ईर्ष्या के चलते लूट की योजना बनाई थी. उमेश ने अपने गांव के रोबिन से कहा जिसने अपने दो साथियों सचिन और बेदू को इस काम में लगाया. उन्होंने बताया कि लूट की पूरी घटना के लिए पहले से योजना बनाई गई थी और टोह ली गई थी.