close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

मऊ में 30 साल से 2 पक्षों में चले आ रहे जमीन विवाद में 3 लोगों की हत्‍या

इस हिंसा में तीन लोगों की हत्या हुई है साथ ही कई लोगों के घायल होने की भी खबर है. घायलों का इलाज प्राथमिक स्‍वास्‍थ्‍य केंद्र में चल रहा है. 

मऊ में 30 साल से 2 पक्षों में चले आ रहे जमीन विवाद में 3 लोगों की हत्‍या
प्रतीकात्मक

मऊ: उत्तर प्रदेश के मऊ जनपद के रानीपुर थाना क्षेत्र के मठिया गांव में रहने वाले पट्टीदारों के बीच में जमीन को लेकर विवाद हुआ. इसमें हुई हिंसा में तीन लोगों की हत्या कर दी गई. हिंसा में कई अन्‍य लोग घायल भी हुए हैं, जिनका इलाज प्राथमिक स्‍वास्‍थ्‍य केंद्र में चल रहा है. हत्याकांड से पूरे इलाके में सनसनी फैल गई है. पट्टीदारों के बीच जमीन का यह विवाद 30 साल से भी अधिक पुराना है. इसको लेकर आए दिन दोनों पट्टीदार आमने-सामने होते थे.

बता दें कि गांव के रहने वाले पट्टीदारों में एक पक्ष टुनटुन चौहान का है और दूसरा पक्ष शिवचंद चौहान का है, इनके बीच में 30 साल से जमीन का विवाद चला आ रहा है. लेकिन शुक्रवार देर रात टुनटुन चौहान अपने साथियों के साथ में मिलकर शिवचंद चौहान के घर धारदार हथियार लेकर पहुंच गया. इसके बाद सो रहे शिवचंद चौहान के परिवार पर जानलेवा हमला कर दिया. इसमें शिवचंद चौहान  और उनकी पत्नी को धारदार हथियार से काटकर मौत के घाट उतार दिया गया. इतने में ही परिवार के अन्य सदस्यों ने भी टुनटुन और उसके साथियों के साथ हमला करते हुए देखकर शोर मचाना शुरू कर दिया. इससे गांव वाले एकत्र हो गए और हमलावरों को घेर लिया. इसमें दो हमलावर फरार होने में कामयाब हो गए लेकिन गांववालों की गिरफ्त में टुनटुन चौहान आ गया. गांववालों ने टुनटुन चौहान को पकड़कर लाठी-डंडों से पीटकर मौत के घाट उतार दिया. एक गांव में तीन लोगों की हत्या से पूरे इलाके में सनसनी फैला गई. हालांकि घटना की जानकारी मिलते ही पूरे इलाके मे भारी संख्या में फोर्स बल को तैनात कर दिया गया है.

मृतक शिवचंद चौहान के साले सुरेश ने बताया कि उसकी बहन और बहनोई घर के बाहर सो रहे थे. रात में गांव के रहने वाले ही उनके पट्टीदार ने चाकू से हमला कर बहनोई और बहन को मार दिया, जिससे उनकी मौत हो गई. उसका बेटा भी जब घर से बाहर निकला तो उस पर चाकू से हमला कर दिया. वह घायल हो गया. जिला अस्‍पताल के डाक्टर सुबोध कुमार ने बताया कि दो घायल आए हुए थे, इसमें एक की हालत गंभीर थी. शरीर पर छह जगहों पर चाकू के गम्भीर निशान थे, जिनकी गम्भीर हालत को देखते हुए वाराणसी रेफर कर दिया है. एक का इलाज चल रहा है.