CAA Protest: मुजफ्फरनगर में 20 दिसंबर को हुई हिंसा में अब तक 44 मुकदमे दर्ज

एसपी सिटी ने बताया कि इन 44 मुकदमों की विवेचना हेतु एक एसआईटी टीम गठित की गई है, जो एसपी क्राइम के दिशा निर्देश पर विधिक कार्रवाई करेगी.  

CAA Protest: मुजफ्फरनगर में 20 दिसंबर को हुई हिंसा में अब तक 44 मुकदमे दर्ज
फाइल फोटो

अंकित मित्तल/मुजफ्फरनगर: पश्चिमी उत्तर प्रदेश (Western Uttar Pradesh) के मुजफ्फरनगर (Muzaffarnagar) में CAA (Citizenship Amendment Act) के विरोध में 20 दिसम्बर को हिंसा करने वालों पर पुलिस की कार्रवाई जारी है. जुमे की नमाज के बाद हुए उपद्रव के दौरान आगजनी, पथराव, फायरिंग और तोड़फोड़ के मामले में अब तक 44 मुकदमे दर्ज किए गए हैं.

जिसमें से अब तक कई दर्जन आरोपियों को जेल भेज दिया गया है, जबकि अन्य आरोपियों की तलाश में ताबातोड़ दबिश पुलिस द्वारा दी जा रही है. मुजफ्फरनगर कोतवाली पुलिस ने इन मुकदमों में दो मुकदमे अल्ताफ व अकबर की ओर से भी दर्ज किए है. इन दोनों मुकदमों में भीड़ द्वारा घरों में घुसकर तोड़फोड़ करने का आरोप लगाया गया है.

एसपी सिटी सतपाल अंतिल ने जानकारी देते हुए बताया कि जनपद में अभी तक कुल मिलाकर 44 मुकदमे पंजीकृत किए गए हैं. इसमें दो मुकदमे कल और पंजीकृत किए गए. जिनके घर पर तोड़फोड़ हुई थी उन्होंने एप्लीकेशन दी है कि उपद्रवियों के द्वारा जाते समय उनके घर पर तोड़फोड़ की गई. इस संबंध में दो और मुकदमे लिखे गए हैं. नगर कोतवाली से 6 टीम बनाई गई हैं जोकि इन उपद्रवियों की वीडियो फुटेज व सीसीटीवी के माध्यम से पहचान कर गिरफ्तारी के प्रयास कर रही हैं.

एसपी सिटी ने बताया कि इन 44 मुकदमों की विवेचना हेतु एक एसआईटी टीम गठित की गई है, जो एसपी क्राइम के दिशा निर्देश पर विधिक कार्रवाई करेगी.