यूपी में नागरिकता कानून के खिलाफ हिंसक प्रदर्शन से 7 लोगों की मौत

उत्तरप्रदेश में 13 जिलों में धारा 144 लागू है. बता दें कि लखनऊ में हिंसक प्रदर्शन में गुरुवार देर रात एक व्यक्ति की मौत हो गई थी.

यूपी में नागरिकता कानून के खिलाफ हिंसक प्रदर्शन से 7 लोगों की मौत
प्रदेश में हिंसक विरोध प्रदर्शन में अब तक 6 लोगों की मौत हो चुकी है.

लखनऊ: नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के खिलाफ उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में हिंसक विरोध जारी है. शुक्रवार को जुमे की नमाज के बाद कई जिलों में जमकर बवाल हुआ. गोरखपुर, बिजनौर, फिरोजाबाद, संभल, कानपुर समेत कई जिलों में पुलिस पर पथराव और जगह जगह आगजनी की गई.

प्रदेश में हुए हिंसक विरोध प्रदर्शन में अब तक 7 लोगों की मौत हो चुकी है. जानकारी के मुताबिक बिजनौर में 2 लोग मारे गए जबकि कानपुर, आगरा और मेरठ में 1-1 की मौत हो गई. वहीं, गुरुवार को विरोध प्रदर्शन के दौरान गोली लगने से एक व्यक्ति की लखनऊ में मौत हो गई थी.

अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी ने बताया कि अब तक हिंसा में कुल 15 लोग गंभीर रूप से घायल हुए हैं.

 

जानकारी के मुताबिक बिजनौर के नेहटौर में आज प्रदर्शनकारियों और पुलिस में झड़प हुई. जहां 1 व्यक्ति की मौत हो गई. इस दौरान झड़प में आधा दर्जन से ज्यादा पुलिसकर्मी भी घायल हो गए. फिलहाल, बिजनौर में इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई है. उधर, फिरोजाबाद में भी हुए हिंसक प्रदर्शन में अब तक 9 लोग घायल बताए जा रहे हैं. जिनमें 4 पुलिसकर्मी शामिल हैं. साथ ही 2 गंभीर रूप से घायलों को आगरा रेफर कर दिया गया है. एहतियात के तौर पर फिरोजाबाद में भी इंटरनेट सेवाएं बंद हैं.

TET परीक्षा को स्थगित किया गया

उधर, प्रदेश में CAA के विरोध के बीच एहतियात के तौर पर यूपी में होने वाली TET परीक्षा को स्थगित कर दिया गया है. 22 दिसंबर को होनी वाली परीक्षा में 75 जिलों के करीब 16 लाख छात्रों को शामिल होना था.