चालीस साल साथ रहने के बाद ओल्ड एज कपल ने धूमधाम से रचाई शादी, बेटे-बहुएं-पोते बने बाराती

मामला अमेठी के जामो थाना क्षेत्र के खुटहना गांव का है. 

चालीस साल साथ रहने के बाद ओल्ड एज कपल ने धूमधाम से रचाई शादी, बेटे-बहुएं-पोते बने बाराती
मोतीलाल और मोहिनी

सतीश बरनवाल/अमेठी: यूपी में एक बेहद अनोखी शादी का मामला सामने आया है. यहां एक 65 साल की उम्र में एक बुजुर्ग को शादी का खुमार चढ़ गया. फिर क्या था, बुजुर्ग ने 60 वर्षीय पत्नी के साथ शादी रचा डाली. शादी की रस्में पूरे हिंदू रीति-रिवाज के अनुरूप अदा की गई. अब आप सोच रहे होंगे कि इसमें हैरानी वाली कौन सी बात है. दरअसल, दोनों बुजुर्ग युगल अभी तक लिव-इन में रह रहे थे. वहीं, ये शादी पूरे इलाके में चर्चा का विषय बनी हुई है. 

क्या है मामला? 
मामला अमेठी के जामो थाना क्षेत्र के खुटहना गांव का है. यहां रहने वाले मोतीलाल के घर पर रिश्तेदारों और नातेदारों की भीड़ जुटी थी. ये भीड़ मोतीलाल के वैवाहिक समारोह की थी. जिसमें उसकी बेटियों से लेकर बहू और नाती-पोते खुशियां मनाते दिखाई दिए. बहू-बेटियां और नाती-पोते सभी मोतीलाल की शादी में बराती-घराती बने और सारी रस्में निभाईं. गांव में हुई शादी में ढोलक की थाप पर गाने-बजाने भी हुए. आपको बता दें कि अपनी शादी के लिए मोतीलाल ने गांव तक में कार्ड तक छपवाकर बंटवाए थे. सभी के लिए भोज की भी व्यवस्था की गई थी. रात के समय मोतीलाल और मोहिनी देवी (60) ने फेरे लेकर अपने रिश्ते को धार्मिक मान्यता दी. 

ये भी पढ़ें- UP Corona Update: यूपी में बीते 24 घंटे में 213 नए मामले, महोबा फिलहाल कोरोना मुक्त

 

40 वर्षों से बगैर शादी के रह रहे थे एक-दूसरे के साथ 
ग्रामीणों का कहना है कि दोनों  बुजुर्ग दंपति पिछले 40 वर्षों से बगैर शादी के एक-दूसरे के साथ रह रहे थे. वहीं, मोतीलाल बताते हैं कि उन्होंने करीब 28 साल पहले मोहिनी देवी से मंदिर में शादी की थी, लेकिन उनके परिवार ने इस शादी को नहीं अपनाया. इसके बावजूद वो मोहिनी को अपने साथ घर ले आए. मोतीलाल का कहना है कि उस समय उन्होंने धूमधाम से ब्याह इसलिए नहीं रचाया, ताकि आगे चलकर बेटी-बेटों के शादी में समस्या ना आए. अब जब उन्होंने अपने बेटे और बेटियों की शादी कर दी और वो भी बाल-बच्चे वाले हो गए, तो अब दोनों ने दोबारा धूमधाम से मोहिनी से शादी की. इसके साथ ही मोहिनी को समाज में पत्नी का दर्जा दिया.   

ये भी पढ़ें- Escalators के साइड में ब्रश जूते साफ करने के लिए नहीं लगे होते, जानें क्या है असली वजह?

 

मोतीलाल और मोहिनी की प्रिया और सीमा नाम की दो बेटियां हैं, जो पिता की शादी में बाराती बनीं. प्रिया और सीमा ने कहा कि उन्हें शादी में शामिल होते हुए खुशी हो रही है. बता दें कि मोतीलाल की पत्नी मोहिनी मकदूमपुर गांव की रहने वाली है. 

इसलिए किया पूरी-रीति रिवाज से शादी का फैसला 
मोतीलाल की शादी की रस्में पूरी कराने वाले पंडित तेज राम पाण्डेय ने बताया कि इनकी शादी रीति-रिवाज के साथ नहीं हुई थी. हमारा नियम है कि अगर किसी की मौत हो जाए तो श्राद्ध आदि नहीं हो सकता. लड़के पिंडदान नहीं कर पाते, इसलिए अब परलोक सुधराने के लिए दोनों ब्याह कर रहे हैं. 

ये भी देखें- UP ATS ने किया धर्मांतरण रैकेट का भंडाफोड़, 1000 लोगों का धर्म परिवर्तन कराने वाले दो मौलाना गिरफ्तार

WATCH LIVE TV