हवाला के जरिए कर बेच रहे थे करोड़ों की बुद्ध प्रतिमा, जानिए मूर्ति में क्या है खास

अब आप सोच रहेंगे होंगे कि आखिरी अष्टधातु की मूर्ति की क्या खासियत होती है कि वह इतनी महंगी बिकती है. आइए जानते हैं...  

हवाला के जरिए कर बेच रहे थे करोड़ों की बुद्ध प्रतिमा, जानिए मूर्ति में क्या है खास

लखनऊ:  लखनऊ पुलिस (Lucknow Police) ने सोमवार को 7 तस्करों को गिरफ्तार किया. ये तस्कर हवाला के जरिए एंटीक आइटम के कारोबारी से करोड़ों की डील में लगे हुए थे. हालांकि, उनका इरादा सफल नहीं हो पाया. पुलिस ने जांच करने के बाद बांदा के कबरई से बुद्ध की अष्टधातु की मूर्ति बरामद की. अब आप सोच रहेंगे होंगे कि आखिरी अष्टधातु की मूर्ति की क्या खासियत होती है कि वह इतनी महंगी बिकती है. आइए जानते हैं...

Viral Video: नहीं हैं दो पैर और एक हाथ,फिर भी ये शख्स कर लेता है वेटलिफ्टिंग

इन आठ धातुओं का होता है कॉम्बिनेशन 
अष्टधातु का अर्थ है आठ धातुओं का मिश्रण. इनमें आठ धातुएं सोना, चांदी, तांबा, सीसा, जस्ता, टिन, लोहा, और पारा शामिल किया जाता है. इसमें कुछ ऐसे शामिल धातु हैं, जो काफी महंगी बिकती हैं. इसके अलावा मूर्तियों की तस्करी के पीछे की विशेष वजह है. दरअसल, ज्यादातर मूर्तियां काफी पहले बनाई गई थीं. ऐसे में एंटीक आइटम के मॉर्केट में मूर्तियों की कीमत काफी अधिक होती है. इसलिए आपको अक्सर अष्टधातु की मूर्तियों की तस्करी की खबर सुनने को मिलती होगी.

ना डाइट की जरूरत, ना एक्सरसाइज की, ऐसे कम हो जाएगा मोटापा

अष्टधातु के इस्तेमाल से होते हैं ये फायदे
हिंदू धर्म और ज्योतिष में अष्टधातु का विशेष महत्व है. माना जाता है कि अष्टधातु की अंगूठी पहनने से नवग्रह संतुलित रहते हैं. इसके अलावा माना जाता है कि अष्टधातु के इस्तेमाल से तनाव दूर होता है. सोचने की क्षमता भी बढ़ जाती है. 

इस कोण  में रखें मूर्ति
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, घर में अष्टधातु की मूर्ति को रखना चाहिए, क्योंकि इसका प्रभाव सीधे आपके जीवन में पड़ता है. अष्टधातु की गणेशजी की मूर्ति अपने घर के पूजा स्थान में या ईशान कोण में स्थापित करने से घर में सब शुभ होता है. सभी कार्य आसानी होते हैं. 

WATCH LIVE TV