हापुड़ में बदमाशों के हौसले बुलंद, लूटपाट के बाद डॉक्टर को उतारा मौत के घाट

घटना की जानकारी लगते ही वरिष्ठ पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंचे और जांच शुरू कर दी. फिलहाल, डॉक्टर के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है.

हापुड़ में बदमाशों के हौसले बुलंद, लूटपाट के बाद डॉक्टर को उतारा मौत के घाट
फिलहाल डॉक्टर के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है.

मो. ताहिर/हापुड़: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के हापुड़ (Hapur) जिले में बदमाशों के हौसले कितने बुलंद हैं, इस का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि बदमाश एक डॉक्टर के घर लूटपाट के बाद हत्या कर फरार हो जा रहे हैं. दरअसल, सिटी कोतवाली क्षेत्र के रेलवे रोड स्थित सूरज गंज कालोनी में डॉ ताराचंद अग्रवाल के घर में घुसकर बदमाशों ने लूटपाट की और विरोध करने पर डॉक्टर की गला घोंट कर हत्या कर दी. बदमाशों का घर में जाते हुए एक सीसीटीवी फुटेज भी सामने आया है.

वहीं, घटना की जानकारी लगते ही वरिष्ठ पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंचे और जांच शुरू कर दी. फिलहाल डॉक्टर के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है.

जानकारी के मुताबिक डॉ ताराचंद अग्रवाल आयुर्वेद के डॉक्टर थे. रेलवे रोड पर ही आदर्श मेडिकल स्टोर के नाम से मेडिकल स्टोर चलाते थे. बीती रात करीब साढ़े 9 बजे जब डॉक्टर मेडिकल स्टोर बंद कर अपने घर पहुंचे तो पीछे से तीन युवक भी घर के अंदर घुस गए और अंदर से दरवाजा बंद कर दिया. इस दौरान बदमाशों ने घर में जमकर लूटपाट की और जब डॉक्टर द्वारा लूटपाट का विरोध हुआ तो बदमाशों ने डॉक्टर के हाथ पैर बांध दिए, साथ ही उनके मुंह में कपड़ा ठूंस दिया.

आशंका जताई जा रही है कि बदमाशों ने डॉक्टर की गला घोंटकर हत्या कर दी. हालांकि, इस दौरान जब पड़ोसियों द्वारा दरवाजा खटखटाया गया तो, किसी ने दरवाजा नहीं खोला. पड़ोसियों ने बताया कि उनके शोर मचाना पर बदमाश छत के रास्ते भाग गए.

कॉलोनी के लोग जब घर का दरवाजा तोड़कर अंदर घुसे तो डॉक्टर ताराचंद अचेत अवस्था में बिस्तर पर पड़े थे. जिन्हें आनन-फानन में अस्पताल भेजा गया और घटना की सूचना पुलिस को दी गई. अस्पताल में डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया.

उधर, घटना के कुछ समय बाद ही पुलिस को सूचना मिली कि दूसरे मोहल्ले के लोगों ने कुछ संदिग्ध युवकों को पकड़ा है. जिसके बाद पुलिस मौके पर पहुंची और दोनों संदिग्धों को हिरासत में लेकर थाने पहुंच गई.

हालांकि, अभी तक ये साफ नहीं हो पाया है कि क्या ये संदिग्ध डॉक्टर ताराचंद के घर लूटपाट और उनकी हत्या में शामिल थे.