Zee Special: मंदिर तो बनेगा लेकिन अयोध्या को है विकास की दरकार

अयोध्या के लोगों ने Zee News से बातचीत में अपनी रखी है और कहा कि उन्हें बदलाव चाहिए.

Zee Special: मंदिर तो बनेगा लेकिन अयोध्या को है विकास की दरकार
अयोध्या में खस्ताहाल शौचालय.

अयोध्या: दशकों से चले आ रहे अयोध्या मामले (Ayodhya Case) में बीते शनिवार को सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने अपना फैसला सुना दिया. कोर्ट के फैसले के बाद अब अयोध्या और देश को राम मंदिर मिल जाएगा. लेकिन, अभी भी काफी कुछ ऐसा है जिसका अयोध्यावासियों को इंतजार है. Zee News आज आपको अयोध्या की जरूरतों के बारे में बताएगा. अयोध्या विवाद के अंत बाद अब विकास की जरूरत है. अब सरकार और स्थानीय प्रशासन को इस बात की तरफ ध्यान देना चाहिए कि अयोध्या और यहां के लोग क्या चाहते हैं. 

अयोध्या के लोगों ने Zee News से बातचीत में अपनी रखी है और कहा कि उन्हें बदलाव चाहिए. अयोध्या को सुंदर और स्वच्छ बनाया जाए. युवाओं को रोजगार की दरकार है.  

क्या चाहती है अयोध्या?

1. साफ़ सुथरे शौचालय
2. अयोध्या में सफ़ाई
3. अयोध्या में बस अड्डा
4. बड़े शहरों से सीधी कनेक्टिविटी
5. एयरपोर्ट
6. अस्पताल में डॉक्टरों की कमी दूर होना
7. अस्पताल में रेडियोलॉजिस्ट की तैनाती
8. लड़कियों के राजकीय इंटर कॉलेज में साइंस फ़ैकल्टी की सुविधा
9. होटल और गेस्ट हाउस
10. विदेशी मेहमानों के लिए बड़े होटल
11. मॉल, पार्क, सिनेमा हॉल और बड़े शिक्षण संस्थान
12. अयोध्या में अच्छे और विशेष सुविधाओं के अस्पताल

Zee News की टीम ने अयोध्या के महोबरा चौराहे से सरयू घाट तक लगभग 5 किलोमीटर एक रिएलिटी चेक किया. यह अयोध्या की प्रमुख सड़क है, सभी मंदिर और साधु संतों के आश्रम इसी सड़क पर हैं. इस रास्ते में सिर्फ 4 जगह शौचालय मिले और उनकी हालात बदतर है. इनमें न तो पानी है और न ही सफाई. हालांकि, श्रीराम चिकित्सालय के पास एक शौचालय अच्छी कंडीशन में मिला. नया घाट पर शौचालय अच्छी कंडीशन में मिला. लेकिन तुलसी उद्यान और टेढ़ी बाजार के शौचालय की स्थिति बहुत खराब है.

आपको बता दें कि अयोध्या में एक ही अस्पताल है. श्री राम चिकित्सालय, जिसमें अल्ट्रासाउंड की महंगी मशीनें तो हैं लेकिन डॉक्टर की कमी के चलते लोगों को मुश्किलों का सामना करना पड़ता है. यहां रेडियोलॉजिस्ट ना होने के कारण अल्ट्रासाउंड विभाग में ताला बंद है.