न करें देर इस उम्र में मां बनना हो सकता है रिस्की!

30 से 40 साल की उम्र में अधिकांश महिलाओं की गर्भावस्था में कोई परेशानी नहीं आती, मगर आपकी उम्र जितनी ज्यादा होगी, आपको मधुमेह और उच्च रक्तचाप (हाई ब्लड प्रेशर) जैसी स्वास्थ्य समस्याएं रहने की संभावना ज्यादा होती है. इसका असर आपकी गर्भावस्था और डिलीवरी पर पड़ सकता है.

न करें देर इस उम्र में मां बनना हो सकता है रिस्की!

नई दिल्ली:  मां बनना एक सुखद एहसास है. हर लड़की इस एहसास को जीना चाहती है. आज की भागदौड़ और करियर के बीच में मां बनने की जो परफेक्ट उम्र होती है वो छूट जाती है. ऐसे बहुत से कारण हो सकते हैं जिनकी वजह से शायद आप 30 साल की उम्र के बाद ही मां बनने का फैसला करें. ऐसा हो सकता है पहले आप कुछ सालों तक अपना करियर बनाना चाहती हों या फिर शायद आपको उस सही लाइफ पार्टनर की तलाश में समय लग गया हो, जिनके साथ आप शादी करना और घर बसाना चाहती हों !

योगी सरकार देगी अभिनव पुरस्कार, अटल जी के नाम पर 5 लाख रुपये का दिया जाएगा सम्मान

जिम्मेदारी उठाने के लिए खुद को करते हैं तैयार
अक्सर देखा जाता है कि ज्यादातर दंपती अपने बच्चे को दुनिया में लाने से पहले कई तरह के विचार करते हैं. उन्हें लगता है कि नन्हें मेहमान को तभी इस दुनिया में लाना चाहिए जब वो उसकी जिम्मेदारी उठाने के लिए पूरी तरह से तैयार हो जाएं ताकि वो बच्चे को एक बेहतर जिंदगी दे सकें. और यहीं पर कपल अपने गोल पूरा करने के लिए फैमिली प्लानिंग आगे बढ़ा देते हैं.

हम आपको बता रहे हैं कि 30 साल के बाद गर्भधारण करने पर कौन सी परेशानियां हो सकती हैं. तीस के बाद लड़कियों की उम्र के प्रेग्नेंट होने और बच्चे को जन्म देने से कई समस्यायें पैदा हो जाती हैं. इसमें बच्चे और मां दोनों के लिए ही खतरा होता है. हमने अक्सर अपने बड़े बुजुर्गों से कहते सुना होगा की सही उम्र में बच्चा पैदा हो जाए तो ठीक है वरना बाद में बहुत परेशानी होती है.

  • 30 साल के बाद मां बनने के हालात में नॉर्मल डिलीवरी कम ही होती है. अगर आपकी उम्र 35 साल के पार गर्भ धारण करने वाली महिलाओं में भ्रूण का विकास नॉर्मल तरीके से नहीं होता है. वो या तो बहुत छोटा होता है या बहुत बड़ा. 
  • 35 के बाद प्रेग्नेंट होने वाली महिलाओं में हाई ब्लड-प्रेशर की समस्या ज्यादातर रहती है. हाई ब्लड प्रेशर न तो मां के लिए अच्छा है और न बच्चे के लिए.
  • 30 साल के बाद गर्भ धारण के लिए डायबिटिज की स्थिति भी खतरनाक होती है. अगर बच्चे का जन्म सर्जरी से होता है तो ये बहुत ही गंभीर हो सकता है.
  • 35 साल के बाद गर्भ धारण करना मुश्किल होता है, लेकिन इससे भी ज्यादा गर्भपात की आशंका बढ़ जाती है.

वैसे तो आजकल आईवीएफ और सरोगेसी जैसे ऑप्शन हैं लेकिन इनके शत-प्रतिशत सफल होने की गांरटी तो नहीं है.

डायबिटिज और हाई ब्लड प्रेशर से पड़ता है असर
30 से 40 साल की उम्र में अधिकांश महिलाओं की गर्भावस्था में कोई परेशानी नहीं आती, मगर आपकी उम्र जितनी ज्यादा होगी, आपको मधुमेह और उच्च रक्तचाप (हाई ब्लड प्रेशर) जैसी स्वास्थ्य समस्याएं रहने की संभावना ज्यादा होती है. इनका असर आपकी गर्भावस्था और डिलीवरी पर पड़ सकता है. अक्सर देखा गया है कि गर्भपात भी अधिक उम्र की महिलाओं में होता है.

खुद को मानसिक तौर पर करें तैयार
बेहतर होगा कि पहले आप खुद को मानसिक तौर पर इसके लिए तैयार करें. यदि आप 25 की उम्र में खुद को मां बनने के लिए तैयार नहीं कर पा रही हैं, तो फिर जबरन किसी के कहने पर आप इसे पूरा भी नहीं कर सकतीं. आज के समय में शादी के बाद खुद को नए माहौल में ढालने और घर और दफ्तर के बीच सामंजस्य बिठाने के बाद ही कोई स्त्री मां बनने के बारे में सोच पाती है.

ये है बच्चे को जन्म देने की परफेक्ट उम्र
अगर आपकी शादी 25 की उम्र में होती है, तो आप शादी के तुरंत बाद ही बच्चे को जन्म देने की प्लानिंग कर सकते हैं. बच्चे को जन्म देने के लिए ये सबसे परफेक्ट उम्र होती है. कंसीव करने के लिए 25 की उम्र महिलाओं के साथ पुरुषों के लिए भी सबसे बेस्ट होती है. क्योंकि इस उम्र में स्पर्म सबसे ज्यादा फ्रेश और मैच्योर होता है.

यूपी कैडर के 23 IPS अधिकारियों का प्रमोशन, किन पदों पर मिली जिम्मेदारी, देखें पूरी लिस्ट

ज्यादा देर ने करें
हालांकि 35 साल की आयु होने के बाद इसमें मुश्किल हो सकती है. इसलिए बेहतर है कि शिशु के जन्म के लिए ज्यादा देर न करें, खासकर कि यदि आप दो बच्चे चाहती हैं तो.

WATCH LIVE TV