Vikas Dubey के बाद अब मुख्तार अंसारी गैंग टार्गेट पर, 3 सहयोगियों के हथियारों का लाइसेंस रद्द

प्रभारी निरीक्षक थाना कोतवाली की ओर से जिलाधिकारी को 8 जुलाई 2020 को ये रिपोर्ट दी गई थी कि मुख्तार अंसारी के 3 सहयोगियों के हथियारों का वेरिफिकेशन नियमित तौर पर नहीं हुआ है. इसी सिलसिले में गाजीपुर के डीएम ने इन तीनों के शस्त्र लाइसेंस सस्पेंड कर दिए हैं. 

Vikas Dubey के बाद अब मुख्तार अंसारी गैंग टार्गेट पर, 3 सहयोगियों के हथियारों का लाइसेंस रद्द
मुख्तार अंसारी (फाइल फोटो)

गाजीपुर: कानपुर वाले विकास दुबे के एनकाउंटर के बाद पुलिस उसके गैंग को करीब-करीब तबाह कर चुकी है. इसके बाद अब पुलिस की टेढ़ी नजर बाहुबली मुख्तार अंसारी के गैंग पर है. गाजीपुर पुलिस ने मुख्तार अंसारी गैंग से जुड़े उसके 3 सहयोगियों के हथियारों का लाइसेंस रद्द कर दिया है.

हथियारों के वेरिफिकेशन में थी गड़बड़ी 
प्रभारी निरीक्षक थाना कोतवाली की ओर से जिलाधिकारी को 8 जुलाई 2020 को ये रिपोर्ट दी गई थी कि मुख्तार अंसारी के 3 सहयोगियों के हथियारों का वेरिफिकेशन नियमित तौर पर नहीं हुआ है. इसी सिलसिले में गाजीपुर के डीएम ने इन तीनों के शस्त्र लाइसेंस सस्पेंड कर दिए हैं. जिन-जिनके हथियारों का लाइसेंस रद्द हुआ है, उनके नाम हैं -

  •  मोहम्मद सालिम, पुत्र स्वर्गीय मोहम्मद हाकिम निवासी मोहल्ला मीर अशरफ अली  थाना कोतवाली गाजीपुर। (मुख्तार अंसारी का रिश्तेदार)
  • नूरुद्दीन आरिफ, पुत्र स्वर्गीय मोहम्मद नसरुद्दीन निवासी बरबहना थाना कोतवाली गाजीपुर (मुख्तार अंसारी का रिश्तेदार)
  • मसूद आलम, पुत्र स्वर्गीय इनामुल हक निवासी सैयदवाड़ा थाना कोतवाली गाजीपुर (मुख्तार अंसारी गैंग करीबी)

Vikas Dubey Encounter के बाद अब गैंगस्टर की प्रॉपर्टी का हिसाब-किताब चालू, ED ने मांगा ब्यौरा 

आदेश के क्रम में मोहम्मद सालीम के निलंबित शस्त्र को थाने में दाखिल कराने की प्रक्रिया जारी है. नूरुद्दीन आरिफ और मसूद आलम के निलंबित शस्त्रों को थाना स्थानीय के मालखाने में नियम के मुताबिक दाखिल करा लिया गया है.

WATCH LIVE TV