आगरा में नहीं थम रही कोरोना की रफ्तार, हटाए गए CMO और AD

डॉक्टर आरसी पाण्डेय को आगरा का सीएमओ नियुक्त किया गया है, जबकि आगरा के मौजूदा सीएमओ डॉक्टर मुकेश कुमार वत्स को डीएम कार्यालय से संबद्ध किया गया है. इसी तरह आगरा के अपर निदेशक चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण रहे डॉक्टर एके मित्तल को मंडलायुक्त कार्यालय से संबद्ध कर दिया गया है, जबकि उनकी जगह डॉक्टर अविनाश सिंह को नियुक्त किया गया है. हटाए गए दोनों ही अधिकारी जून में सेवानिवृत्त हो रहे हैं. 

आगरा में नहीं थम रही कोरोना की रफ्तार,  हटाए गए CMO और AD
प्रतीकात्मक फोटो

शोभित चतुर्वेदी/आगरा: आगरा में लगातार बढ़ रही कोरोना वायरस के पॉजिटिव मरीजों की संख्या को देखते हुए सरकार की ओर से बड़ी कार्रवाई की गई है. आगरा के मुख्य चिकित्सा अधिकारी और अपर निदेशक चिकित्सा एवं परिवार कल्याण को तत्काल उनके पद से हटा दिया गया है और इनकी जगह नए अधिकारियों की नियुक्ति की गई है.

आगरा की स्थिति पर चिंतित सरकार 
मुख्यमंत्री के निर्देश पर कल ही आगरा में स्थिति को नियंत्रण में करने के लिए 5 अधिकारियों को भेजने की बात तय हुई थी. इन्हीं अधिकारियों में शामिल डॉक्टर आरसी पाण्डेय को आगरा का सीएमओ नियुक्त किया गया है, जबकि आगरा के मौजूदा सीएमओ डॉक्टर मुकेश कुमार वत्स को डीएम कार्यालय से संबद्ध किया गया है. इसी तरह आगरा के अपर निदेशक चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण रहे डॉक्टर एके मित्तल को मंडलायुक्त कार्यालय से संबद्ध कर दिया गया है, जबकि उनकी जगह डॉक्टर अविनाश सिंह को नियुक्त किया गया है. हटाए गए दोनों ही अधिकारी जून में सेवानिवृत्त हो रहे हैं. 

इसे भी पढ़ें: कोरोना संकट के बीच जल्द पटरी पर दौड़ेंगी ट्रेनें, जानें कब से शुरू होगी बुकिंग

जिले में भेजे गए 5 नए अधिकारी 
सीएम योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर आगरा में हालात पर काबू पाने के लिए 5 अधिकारी भेजे गए हैं. जिनमें आलोक कुमार (प्रमुख सचिव औद्योगिक विकास), रजनीश दुबे (प्रमुख सचिव, चिकित्सा शिक्षा), विजय प्रकाश, (आईजी), अविनाश कुमार, (अपर निदेशक स्तर) और प्रोफेसर आलोक नाथ (प्लमोनरी विभाग, SGPGI) शामिल हैं.

ये भी देखें: UP में कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़कर हुई 3467, इन 3 जिलों में भेजी जाएगी हाई लेवल मेडिकल टीम

यूपी में COVID-19 का एपिसेंटर बना आगरा 
उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस ने सबसे पहले आगरा से ही पांव पसारने शुरू किए थे. जिसके बाद प्रदेश के साथ-साथ आगरा में भी कोरोना पॉजिटिव लोगों का आंकड़ा तेजी से बढ़ने लगा. फिलहाल आगरा में कुल 756 कोरोना पॉजिटिव पेशेंट्स हैं. मरीजों की बढ़ती हुई संख्या सरकार और आगरा प्रशासन के लिए चुनौती बनी हुई है.