आगरा के इस गांव में 15 दिनों में 25 नौजवानों की मौत, आंखें मूंदे बैठा है जिला प्रशासन

गांव में बने सीएचसी में महीनों से ताला लगा हुआ है कोई स्वास्थ्यकर्मी गांव में नहीं पहुंचता. जिला प्रशासन की कोई टीम आज तक एंटीजन टेस्ट कराने नहीं पहुंची.

आगरा के इस गांव में 15 दिनों में 25 नौजवानों की मौत, आंखें मूंदे बैठा है जिला प्रशासन

संकल्प दुबे\आगरा: कोरोना का कहर अब शहरों से गांवों की तरफ तेजी से बढ़ रहा है. उत्तर प्रदेश के आगरा जिले के एक गांव से कुछ ऐसा ही डराने वाला मामला सामने आया है. यहां के ग्रामीणों की मानें तो पिछले 15 दिनों में करीब 25 नौजवानों की मौत हो चुकी है. इनमें कई को बुखार और कई अन्य को बुखार के साथ सांस लेने में भी तकलीफ थी. गांव में हो रही मौतों की प्रमुख वजह जिला प्रशासन की अनदेखी और लापरवाही बताई जा रही है.

आज तक नहीं पहुंची स्वास्थ्य विभाग की टीम
आगरा के पास बमरौली कटारा गांव के कई ग्रामीणों को अस्पतालों में इलाज ना मिलने के चलते वे घर पर ही ऑक्सीजन लगाकर इलाज कर रहे हैं. स्वास्थ विभाग और जिला प्रशासन गांव में रैपिड टेस्टिंग, सैनिटाइजेशन और स्वास्थ्य व्यवस्थाओं के दुरुस्त होने का हवाला दे रहा है. मगर ग्राम प्रधान और ग्रामीणों के मुताबिक गांव में आज तक स्वास्थ्य विभाग की टीम नहीं पहुंची, ना ही कोई सैनिटाइजेशन कराया गया.

एक ही गांव में हो रही रोज 2 से 3 मौतें
इसके अलावा बमरौली कटारा गांव में पिछले कई महीनों से नगर निगम के सफाई कर्मचारी भी नहीं पहुंचे हैं. इसके चलते गांव में गंदगी का भी अंबार लगा हुआ है. इलाज ना मिलने के चलते प्रतिदिन 2 से 3 ग्रामीणों की मौत हो रही है. भले ही जिला प्रशासन सरकार के सामने अपनी पीठ थपथपाने के लिए सारी व्यवस्थाएं दुरुस्त होने का दावा करता हो, लेकिन जी मीडिया के ग्राउंड रियलिटी चेक में जो हकीकत सामने आई उससे यह साफ होता है कि इन दावों में कितनी सच्चाई है.

अभी तक नहीं हुआ एंटीजन टेस्ट
गांव में बने सीएचसी में महीनों से ताला लगा हुआ है कोई स्वास्थ्यकर्मी गांव में नहीं पहुंचता. जिला प्रशासन की कोई टीम आज तक एंटीजन टेस्ट कराने नहीं पहुंची. ग्रामीणों का आरोप है आसपास के अस्पतालों में मुंह मांगी कीमत वसूली जा रही है. वहीं, दूसरी ओर इलाज की व्यवस्था भी ठीक नहीं है. ऐसे में प्रशासन का सहारा ना होने के चलते ग्रामीणों में रोष है.

VIDEO: रोटी के लिए नहीं पड़ेगी बेलन की जरूरत, बड़े ही काम का है यह देसी जुगाड़

बेरहम महामारी! घर में बची 2 मासूम बच्चियां, बाकी पूरे परिवार की कोरोना से मौत

WATCH LIVE TV