आगरा : समोसा खिलाकर धर्म परिवर्तन कराने की कोशिश, पादरी और नन हिरासत में

जैसे ही आरएसएस के लोग मौके पर पहुंचे तो वहां मौजूद फादर ने फौरन ही कपड़े बदल लिए और ननों के साथ भागने की कोशिश करने लगे.

आगरा : समोसा खिलाकर धर्म परिवर्तन कराने की कोशिश, पादरी और नन हिरासत में

आगरा : बच्चों की शिक्षा का लालच देकर धर्म परिवर्तन कराने की कोशिश का मामला सामने आया है. धर्म परिवर्तन की बात पर हिंदू संगठनों ने मौके पर पहुंचकर जमकर हंगामा किया. पुलिस ने घटना स्थल से एक पादरी और कुछ ननों को हिरासत में लेकर मामले की जांच शुरू कर दी है. उधर, आरएसएस के लोगों ने आरोप लगाया कि आगरा में मिशनरी के लोग काफी समय से धर्म परिवर्तन कराने की कोशिश में लगे हुए हैं. गरीब लोगों को पैसे का लालच दिया जा रहा है.

बच्चों की शिक्षा का लालच
जानकारी के मुताबिक आगरा के जगदीशपुरा में सेक्टर-4 की आवास-विकास कॉलोनी की एक झुग्गी बस्ती में कल गुरुवार को एक फादर समेत कुछ नन पहुंचे और उन्होंने वहां फैली अव्यवस्थाओं पर चर्चा की. पुलिस ने बताया कि इन लोगों ने बच्चों को अच्छी शिक्षा मुहैया कराने,  लोगों को घर और अच्छी लाइफ स्टाइल देने की बात कही. इसके लिए उन्होंने लोगों से ईसाई धर्म अपनाने की बात कही. 

समोसे खाकर आए चक्कर
बस्ती की रहने वाली निवासी माया ने पुलिस को बताया कि वे लोग हमारी बस्ती में आए और हमें समोसे खाने के लिए दिए. उन्होंने बच्चों की शिक्षा के लिए धर्म बदलने की बात कही. माया ने बताया कि जैसे ही एक आदमी ने इसका विरोध किया तो फादर ने फौरन ही अपने कपड़े बदल लिए. उसने बताया कि जैसे ही कुछ बच्चों और उन्होंने समोसा खाया, उन्हें चक्कर आने लगे. 

कोलकाताः 14 लोगों का हो रहा था कथित धर्म परिवर्तन, सवाल करने पर पत्रकारों की पिटाई

आरएसएस के लोगों ने किया हंगामा
इस घटना के बारे में जैसे स्वयं सेवक संघ के लोगों को पता चला तो संघ के कुछ लोग मौके पर पहुंच गए और वहां मौजूद फादर तथा उनके साथियों का विरोध करने लगे. हंगामे की सूचना पर मौके पर पुलिस भी पहुंच गई और फादर समेत कई ननों को हिरासत में लेकर थाने ले आई. आगरा के पुलिस अधीक्षक (सिटी) ने बताया कि उन्होंने मिशनरी के लोगों से बात की तो उन्होंने बताया कि वे महिला दिवस पर लड़कियों की शिक्षा को लेकर जागरूकता फैलाने का काम कर रहे हैं और इसी मकसद से यहां आए थे.

उधर, मौके पर मौजूद आरएसएस के लोगों का कहना था कि यह सीधे तौर पर धर्म परिवर्तन से जुड़ा मामला है. उन्होंने बताया कि जैसे ही वे लोग मौके पर पहुंचे तो फादर ने फौरन ही अपने कपड़े बदल लिए और ननों के साथ वहां से भागने की कोशिश करने लगे.