कमलेश तिवारी हत्याकांड: AIMIM ने कहा, 'बेकसूर मुसलमानों को फंसाने की हो रही साजिश'

कमलेश तिवारी हत्याकांड में यूपी पुलिस ने बिजनौर के दो मौलानाओं मोहम्मद मुफ़्ती नसीम काज़मी और इमाम मौलाना अनवारुल हक के खिलाफ 302 यानी हत्या का मुकदमा दर्ज किया है. 

कमलेश तिवारी हत्याकांड: AIMIM ने कहा, 'बेकसूर मुसलमानों को फंसाने की हो रही साजिश'
लखनऊ में शुक्रवार को दिन दहाड़े हिंदूवादी नेता कमलेश तिवारी की हत्या कर दी गई थी.

बिजनौर: कमलेश तिवारी हत्याकांड (Kamlesh Tiwari Murder Case) मामले ने राजनीतिक रंग लेना शुरू कर दिया है. यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) के बयान के बाद अब ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) ने इसे मुसलमानों के खिलाफ साजिश बताया है. AIMIM बिजनौर के जिलाध्यक्ष ने इसे बेगुनाह मुसलमानों को कमलेश तिवारी हत्याकांड में फंसाने की साजिश बताया है. उन्होंने प्रदेश की योगी सरकार पर मुस्लिमों को फंसाने का आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि मामले की निष्पक्ष जांच होनी चाहिए. इसके साथ ही उन्होंने कमलेश तिवारी हत्याकांड में हिरासत में लिए गए दोनों मौलानाओं को बेकसूर बताया है.

दरअसल, कमलेश तिवारी हत्याकांड में यूपी पुलिस ने बिजनौर के दो मौलानाओं मोहम्मद मुफ़्ती नसीम काज़मी और इमाम मौलाना अनवारुल हक के खिलाफ 302 यानी हत्या का मुकदमा दर्ज किया है. आरोपियों ने कमलेश का सिर कलम करने पर 1.5 करोड़ का ईनाम रखने का आरोप है. दोनों मौलाना फिलहाल पुलिस की हिरासत में हैं. वहीं, इस मामले में गुजरात से 3 संदिग्धों को हिरासत में लिया गया है.

इससे पहले सीएम योगी आदित्यनाथ ने कमलेश तिवारी हत्याकांड पर सख्त लहजे में कहा कि इस मामले में प्रभावी कार्रवाई करने के आदेश दे दिए गए हैं. शनिवार शाम को मैं इस मामले की फिर से समीक्षा करूंगा. भय और दहशत पैदा करने वाले जो भी तत्व होंगे, सख्ती के साथ उनके  मंसूबों को कुचलकर रख देंगे. इस प्रकार की किसी भी वारदात को कतई स्वीकार नहीं किया जाएगा. जो भी इस घटना में शामिल होगा, किसी को भी बख्शा नहीं जाएगा.

आपको बता दें कि लखनऊ में शुक्रवार को दिन दहाड़े हिंदूवादी नेता कमलेश तिवारी की हत्या कर दी गई थी. नाका थाना क्षेत्र इलाके में हिन्दू समाज पार्टी के नेता कमलेश तिवारी पर गोलियां दागी गई थीं. वारदात को अंजाम देकर आरोपी फरार हो गए. बताया जा रहा है कि भगवा कपड़े पहने दो हमलावर हाथ में मिठाई के डिब्बा लेकर कार्यालय में घुसे और गोलियां दाग दीं थी.