close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

परिवार के साथ अपने पैतृक गांव पहुंचे NSA अजीत डोभाल, ग्रामीणों ने किया भव्य स्वागत

शनिवार सुबह करीब साढ़े आठ बजे वह अपने पैतृक गांव घीड़ी स्थित बाल कुंवारी मंदिर पहुंचे. इस दौरान जब वह सड़क से करीब सौ मीटर तक मंदिर की तरफ चले तो ग्रामीणों ने ढोल दमाऊ से उनसा स्वागत भी किया

परिवार के साथ अपने पैतृक गांव पहुंचे NSA अजीत डोभाल, ग्रामीणों ने किया भव्य स्वागत
राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अपनी पत्नी और बड़े बेटे के साथ गांव की वार्षिक पूजा में हिस्सा लिया.

पौड़ी: भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल अपने पैतृक गांव पहुंचे. अजीत डोभाल अपने परिवार के साथ शनिवार (22 जून) को पौड़ी पहुंचे. पैतृक गांव घीडी पहुंचने के बाद वहां के ग्रामीणों ने उनका भव्य स्वागत किया. अजीत डोभाल यहां परम्परागत पूजा अर्चना के लिए पहुंचे हैं. 

शनिवार सुबह करीब साढ़े आठ बजे वह अपने पैतृक गांव घीड़ी स्थित बाल कुंवारी मंदिर पहुंचे. इस दौरान जब वह सड़क से करीब सौ मीटर तक मंदिर की तरफ चले तो ग्रामीणों ने ढोल दमाऊ से उनसा स्वागत भी किया. राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अपनी पत्नी और बड़े बेटे के साथ गांव की वार्षिक पूजा में हिस्सा लिया. 

उन्होंने करीब एक घंटे तक परिवार के सदस्यों के साथ कुलदेवी बाल कुंवारी की पूजा-अर्चना की। पूजा के बाद वह ग्रामीणों से भी मिले और उनके हालचाल भी पूछे. इसके बाद वह दिल्ली के लिए रवाना हो गए. निजी कार्यक्रम के चलते उनके पौड़ी जिला मुख्यालय पहुंचने की जानकारी को गोपनीय रखा गया था. शुक्रवार शाम पौड़ी पहुंचने पर एनएसए का सर्किट हाउस में आयुक्त गढ़वाल डॉ. बीवीआरसी पुरुषोत्तम, जिलाधिकारी धीरज सिंह गर्बयाल, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक दलीप सिंह कुंवर ने उनका स्वागत किया. 

इससे पहले अजीत डोभाल साल 2014 में भी 22 जून को ही वार्षिक पूजा में हिस्सा लेने अपने गांव घीडी पहुंचे थे. पहाड़ और गांव के प्रति लगाव ही उन्हें यहां खींच लाता है. इस दौरान उन्होंने मीडिया से दूरी बनाई रखी. स्थानीय लोगों का कहना है की राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार होने के बाद भी अजीत उच्च पद पर आसीन होने के बाद भी अपने गांव के प्रति लगाव रखते है, जो प्रवासियों को अनोखा संदेश देता हैं.