close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

उन्नाव मामले ने बहन-बेटियों को डरा दिया हैः अखिलेश यादव

अखिलेश यादव ने कहा 'उन्नाव की बेटी न्याय के लिए भटक रही है. पीड़िता के पिता की बीजेपी नेता के कहने पर पुलिस ने पिटाई कर दी, पुलिस ने एफआईआर भी तब दर्ज की जब पीड़िता ने के खुदकुशी करने की कोशिश की. बीजेपी पर सवाल उठना स्वाभाविक है.' 

उन्नाव मामले ने बहन-बेटियों को डरा दिया हैः अखिलेश यादव
फोटो सौजन्य: ANI

नई दिल्लीः उन्नाव रेप पीड़िता की दुर्घटना के मामले पर समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा है कि रेप पीड़िता पर हमला निंदनीय है. अखिलेश यादव ने कहा कि यूपी में बीजेपी सरकार में अपराधियों के हौंसले बढ़े हैं और इस मामले ने राज्य की बहन बेटियों को डरा दिया है. अखिलेश यादव ने कहा 'उन्नाव की बेटी न्याय के लिए भटक रही है. पीड़िता के पिता की बीजेपी नेता के कहने पर पुलिस ने पिटाई कर दी, पुलिस ने एफआईआर भी तब दर्ज की जब पीड़िता ने के खुदकुशी करने की कोशिश की. बीजेपी पर सवाल उठना स्वाभाविक है.' 

वहीं बीजेपी का आरोप है कि उन्नाव मामले में समाजवादी पार्टी राजनीति कर रही है. ट्रक समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता है.

बता दें कि रायबरेली में हुए सड़क हादसे के बाद केजीएमयू के ट्रॉमा सेंटर में उन्नाव रेप पीड़िता और उनके वकील दोनों जिंदगी और मौत के बीच झूल रहे हैं. आज सुबह दोनों घायलों का मेडिकल बुलेटिन जारी किया. डॉक्टर्स ने बताया कि पीड़िता और उनके वकील दोनों ही वेंटिलेटर पर हैं और दोनों की हालत में कोई सुधार नहीं हैं.

शरीर से बह चुका है काफी खून 
हादसे के बाद दोनों घायलों को रविवार शाम दोनों को ट्रॉमा सेंटर में भर्ती कराया गया था. दोनों के शरीर में कई जगह फ्रैक्चर हैं. शरीर से काफी खून भी बह गया है. डॉक्टरों के मुताबिक, दोनों को अब तक करीब सात यूनिट ब्लड चढ़ाया जा चुका है.

दोनों घायलों को आईं हैं गंभीर चोटें
पीड़िता को फ्रैक्चर हैं और फीमर इंजरी, चेस्ट इंजरी और सिर में भी चोटें आई हैं, जिसकी वजह से उसे अभी तक होश नहीं आया है. वहीं, पीड़िता के वकील के एक पैर में दो जगह से हड्डी टूटी है और दूसरे पैर में एक जगह फ्रैक्चर है. इसके अलावा उनके सिर में भी चोट है.

लाइव टीवी देखें

कब और कैसे हुआ सड़क हादसा? 
दरअसल, रविवार को उन्नाव रेप केस की पीड़िता अपने परिवार और वकील के साथ रायबरेली जेल में बंद अपने चाचा से मिलने जा रही थी. रास्ते में उसकी कार को एक तेज रफ्तार ट्रक ने जोरदार टक्कर मार दी. 

तीन लोगों की मौके पर हुई थी मौत
रायबरेली में हुए दर्दनाक सड़क हादसे में कार ड्राइवर, पीड़िता की मां और पीड़िता की चाची की मौके पर ही मौत हो गई थी, जबकि पीड़िता और उसका वकील गंभीर रूप से घायल हो गए.