close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

सपा अध्‍यक्ष अखिलेश यादव ने टाला रामपुर का दौरा, कहा- 'पार्टी हर स्‍तर पर आजम के साथ'

Akhilesh yadav: अखिलेश यादव ने कहा कि प्रशासन ने मेरे कार्यक्रम की मिनट टू मिनट जानकारी मांगी थी. हम लोगों की ओर से यह जानकारी दी गई, लेकिन प्रशासन की ओर से हमें दौरे की अनुमति नहीं दी गई. 

सपा अध्‍यक्ष अखिलेश यादव ने टाला रामपुर का दौरा, कहा- 'पार्टी हर स्‍तर पर आजम के साथ'
अखिलेश यादव कर रहे हैं प्रेस कॉन्‍फ्रेंस.

रामपुर : समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष और यूपी के पूर्व मुख्‍यमंत्री अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) सोमवार (9 सितंबर) को ने आज और कल का अपना दो दिन का रामपुर दौरा टाल दिया है. वह आज सपा सांसद आजम खान (Azam Khan) के समर्थन करने के लिए रामपुर (Rampur) पहुंच जा रहे थे. अब वह और सपा कार्यकर्ता 13 व 14 सितंबर को रामपुर जाएंगे.

लखनऊ में सोमवार को उन्‍होंने प्रेस कॉंन्‍फ्रेंस करके यह जानकारी दी. उन्‍होंने कहा कि प्रशासन ने मेरे कार्यक्रम की मिनट टू मिनट जानकारी मांगी थी. हम लोगों की ओर से यह जानकारी दी गई, लेकिन प्रशासन की ओर से हमें दौरे की अनुमति नहीं दी गई. हमने 8 सितंबर को प्रशासन को सारी जानकारी दी थी. लेकिन फिर भी अनुम‍ति नहीं मिली.

उन्‍होंने कहा कि आजम खान की जौहर यूनिवर्सिटी में बच्‍चों का भविष्‍य बन रहा है. इसी यूनिवर्सिटी के कारण उन पर केस किए गए हैं. पार्टी हर स्‍तर पर आजम खान के साथ हैं. रामपुर जिलाधिकारी ने ज़ी मीडिया से बात करते हुए कहा कि हमने उनको आने से मना नहीं किया है. वो जेड प्लस सिक्योरिटी रखते हैं. हमने उनको पीडब्ल्यूडी के गेस्ट हाउस में रुकने की अनुमति नहीं दी है. क्योंकि वो बहुत व्यस्त जगह पर है और जब कार्यकर्ता वहां जाएंगे तो वहां दिक्कत हो सकती है. बाकी उन्होंने अपना कोई प्रोग्राम डिटेल्स नहीं भेजे हैं तो हमें ज्ञात नहीं है कि वो प्रदर्शन करेंगे या नहीं. बाकी उनके आने में कोई प्रॉब्लम नहीं है. 

सपा सांसद आजम खान (Azam Khan) का समर्थन करने के लिए रामपुर (Rampur) पहुंच रहे थे. इसके मद्देनजर रामपुर के जिलाधिकारी ने उत्तर प्रदेश सरकार (UP Government) को एक पत्र लिखा था. पत्र में मांग की गई थी कि रामपुर में अखिलेश यादव के दौरे पर रोक लगाई जाए. वहीं 10 सितंबर को मुहर्रम के चलते जिले में धारा 144 लागू की गई है. इसके चलते प्रशासन ने सपा कार्यकर्ताओं को यहां प्रदर्शन की इजाजत नहीं दी है. 

गौरतलब है कि रामपुर में आजम खान के भूमाफिया घोषित होने के बाद सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव उनके समर्थन में खुलकर सामने आए थे. मुलायम सिंह यादव ने इस मामले पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और सीएम योगी आदित्याथ से भी बात करने की बात कही थी. इसके बाद अब अखिलेश यादव ने मोर्चा संभालने का निर्णय लिया है. भूमाफिया आजम खान के समर्थन में समाजवादी पार्टी सोमवार को सड़कों पर उतरेगी.

 

वहीं, रामपुर के जिलाधिकारी ने प्रदेश की योगी सरकार (Yogi Government) को लिखे पत्र में कहा है कि अखिलेश यादव के रामपुर दौरे पर रोक लगाई जाए. रामपुर के डीएम ने मुहर्रम के त्योहार के चलते अखिलेश के दौरे पर सरकार से बैन लगाने की मांग की है. उन्होंने कहा कि मुहर्रम को लेकर की गई सुरक्षा व्यवस्था अखिलेश यादव के आने से बिगड़ सकती है. उन्होंने कहा कि इस दौरान अखिलेश यादव को सुरक्षा देना एक बड़ी समस्या होगी, क्योंकि पुलिसबल मुहर्रम के त्योहार में सुरक्षा व्यवस्था देखेगा.

वहीं, डीएम ने यह भी कहा कि अखिलेश यादव ने अपने रामपुर दौरे की जानकारी नहीं दी है. बता दें कि 10 सितंबर को मुहर्रम के चलते धारा 144 लागू है और किसी भी प्रकार के धरना-प्रदर्शन की अनुमति नहीं है. वहीं, सूत्रों का कहना है कि अखिलेश यादव 11 सितंबर को भी रामपुर में रुक सकते हैं.