AMU में हिंदू जागरण मंच के कार्यकर्ताओं ने फूंका जिन्ना का पुतला, पुलिस के साथ हाथापाई

अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के यूनियन हॉल में पाकिस्तानी संस्थापक मोहम्मद अली जिन्ना की तस्वीर लगी होने पर विवाद गहराता जा रहा है. प्रदर्शनकारियों ने AMU के गेट पर मोहम्मद अली जिन्ना का पुतला फूंक दिया.

AMU में हिंदू जागरण मंच के कार्यकर्ताओं ने फूंका जिन्ना का पुतला, पुलिस के साथ हाथापाई
प्रदर्शनकारियों और पुलिस के बीच झड़प. (फोटो-ANI)
Play

अलीगढ़: अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के यूनियन हॉल में पाकिस्तानी संस्थापक मोहम्मद अली जिन्ना की तस्वीर लगी होने पर विवाद गहराता जा रहा है. जिन्ना की तस्वीर हटाने की मांग को लेकर हिंदू जागरण मंच के कार्यकर्ताओं ने जुलूस निकाला और AMU कैंपस के भीतर घुसने की कोशिश की. प्रदर्शनकारियों ने AMU के गेट पर मोहम्मद अली जिन्ना का पुतला फूंक दिया. पुलिस ने जब उन्हें रोकने की कोशिश की तो वे मारपीट पर उतारु हो गए. मजबूरी में पुलिस ने लाठीचार्ज कर प्रदर्शन कर रहे हिंदू जागरण मंच के कार्यकर्ताओं को खदेड़ा. आज पूर्व उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी AMU पहुंचे हैं. यूनियन की तरफ से उन्हें लाइफ टाइम मेंबरशिप से सम्मानित किया जाना है. उनकी यात्रा के मद्देनजर सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किए गए हैं.

कुछ देर बाद हिंदू जागरण मंच समेत तमाम हिंदूवादी संगठन के कार्यकर्ता फिर से पहुंच गए और प्रदर्शन करने लगे. प्रदर्शनकारियों ने AMU के गेट पर मोहम्मद अली जिन्ना का पुतला फूंका. पुतला फूंकने के बाद हिंदुवादी संगठनों और AMU छात्रों के बीच मारपीट की नौबत आ गई. पुलिस ने बीच-बचाव कर दोनों गुटों को अलग किया. ये पहली बार है जब हिंदुवादी संगठन के समर्थकों ने AMU के सैयद गेट पर किसी का पुतला फूंका.

 

 

फिलहाल AMU के आसपास तनाव का माहौल है. तनाव के मद्देनजर भारी संख्या में पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है. AMU के गेट के आसपास हिंदूवादी संगठनों के कार्यकर्ताओं को हटा दिया गया है. फिलहाल हालात काबू में है.

कुछ समय के लिए हटाई गई थी जिन्ना की फोटो
जिन्ना की तस्वीर को लेकर विवाद के बाद यूनियन हॉल से जिन्ना की तस्वीर हटा दी गई और यूनियन हॉल के सभी गेटों पर ताला जड़ दिया गया था. किसी के अंदर आने-जाने पर रोक लग ग या था. यूनियन गेट पर ताला और जिन्ना की तस्वीर हटाए जाने को लेकर यूनियन के उपाध्यक्ष सज्जाद सुभान राथर ने कहा कि अभी सफाई का काम चल रहा है. सफाई की वजह से जिन्ना समेत कई और तस्वीरों को हटाया गया है. सफाई काम पूरा होते ही जिन्ना समेत सभी तस्वीरों को वापस अपनी जगह लगा दी जाएगी. जानकारी के मुताबिक बुधवार (2 मई) को भारत के पूर्व उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी को यूनियन की आजीवन सदस्य्ता दी जाएगी. इसी कार्यक्रम की वजह से यूनियन हॉल की सभी तस्वीरों को साफ किया गया था.

बीजेपी सांसद ने उठाया था सवाल
बता दें स्थानीय बीजेपी सांसद सतीष गौतम ने AMU के वाइस चांसलर को चिट्ठी लिखकर पूछा था कि क्या अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में पाकिस्तानी संस्थापक मोहम्मद अली जिन्ना की तस्वीर लगी हुई है? अगर, जिन्ना की तस्वीर लगी हुई है तो किस विभाग में और किन कारणों से लगी है वह कारण बताएं. साथ में यह भी बताएं कि AMU में पाकिस्तानी संस्थापक मोहम्मद अली जिन्ना की तस्वीर का लगा होना कितना तार्किक है?