इलाहाबाद केंद्रीय विश्वविद्यालय में छात्रसंघ बहाली को लेकर हुआ 8 सदस्यीय कमिटी का गठन

इलाहाबाद केंद्रीय विश्वविद्यालय प्रशासन ने छात्रसंघ बहाली को लेकर अंतिम फैसले के लिए आठ सदस्यीय कमिटी का गठन किया है. डीएसडब्लयू प्रोफेसर आरके सिंह को इस कमिटी का संयोजक बनाया गया है.

इलाहाबाद केंद्रीय विश्वविद्यालय में छात्रसंघ बहाली को लेकर हुआ 8 सदस्यीय कमिटी का गठन
इलाहाबाद विश्वविद्यालय.

मोहम्मद गुफरान/प्रयागराज: इलाहाबाद केंद्रीय विश्वविद्यालय प्रशासन ने छात्रसंघ बहाली को लेकर अंतिम फैसले के लिए आठ सदस्यीय कमिटी का गठन किया है. डीएसडब्लयू प्रोफेसर आरके सिंह को इस कमिटी का संयोजक बनाया गया है. यह कमिटी इलाहाबाद विश्वविद्यालय में छात्रसंघ का स्वरूप कैसा हो इस पर विचार कर अपनी रिपोर्ट सौंपेगी. कमिटी की इस रिपोर्ट को वृहद कमिटी के पास भेजा जाएगा. यहां से रिपोर्ट पास होने के बाद इविवि में छात्रसंघ बहाली का प्रस्ताव कार्य परिषद में रखा जाएगा.

आपको बता दें कि इलाहाबाद केंद्रीय विश्वविद्यालय ने बीते साल एकेडमिक काउंसिल और कार्य परिषद की बैठक में छात्रसंघ को समाप्त कर छात्र परिषद के गठन का निर्णय लिया था. इस फैसले का छात्रों ने जबर्दस्त विरोध किया था और अंतत: इविवि में छात्र परिषद का गठन नहीं हो सका था. प्रोफेसर रतन लाल हंग्लू की इविवि के कुलपति पद से छुट्टी होने के छात्रसंघ बहाली की मांग ने एक बार फिर से तेजी पकड़ी.

कमिटी में ये आठ लोग हैं शामिल
अब इलाहाबाद विश्वविद्यालय एकेडमिक काउंसिल की बैठक में छात्रसंघ बहाली के लिए कमिटी के गठन कर निर्णय लिया गया है. इविवि के कार्यकारी कुलपति प्रोफेसर आरआर तिवारी ने आठ सदस्यीय कमिटी गठित की है. इस कमिटी में डीन आर्ट्स प्रोफेसर रंजना बाजपेयी, डीन कॉमर्स प्रोफेसर एके मुखर्जी, डीन लॉ प्रोफेसर आरके चौबे, डीन साइंस प्रोफेसर शेखर श्रीवास्तव, चीफ प्रॉक्टर प्रोफेसर आरके उपाध्याय, अर्थशास्त्र के विभागाध्यक्ष प्रोफेसर पीके घोष, इलेक्ट्रॉनिक एंड कंप्युनिकेशन डिपार्टमेंट के प्रोफेसर राजीव सिंह और डीएसडब्लयू प्रोफेसर केपी सिंह को शामिल किया गया है.

इस कमिटी के गठन के बाद अब इविवि में छात्रसंघ बहाली की प्रक्रिया में तेजी आएगी. कमिटी गठित किए जाने के बाद इविवि छात्रों ने गुरुवार को चीफ प्रॉक्टर प्रोफेसर आरके उपाध्याय को ज्ञापन सौंप मांग की कि कमिटी की बैठक जल्द कराई जाए. चीफ प्रॉक्टर ने छात्रों को आश्वासन दिया कि बैठक शीघ्र कराई जाएगी. 

WATCH LIVE TV