'इलाहाबाद' को 'प्रयागराज' बनाने के लिए योगी कैबिनेट की मुहर

साल 2017 में योगी सरकार ने वादा किया था कि वे इलाहाबाद प्रयागराज कर देंगे. यूपी सरकार ने अपना वादा पूरा करते हुए 444 साल बाद इलाहाबाद का नाम प्रयागराज कर दिया.

'इलाहाबाद' को 'प्रयागराज' बनाने के लिए योगी कैबिनेट की मुहर
फाइल फोटो

नई दिल्ली/लखनऊ: इलाहाबाद का नाम बदलकार प्रयागराज किए जाने के प्रस्ताव पर मुहर लग गई है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में मंगलवार (16 अक्टूबर) को लोकभवन में हुई कैबिनेट बैठक में ये फैसला लिया गया. 400 से अधिक साल बाद इलाहाबाद का नाम बदलकर फिर से प्रयागराज कर दिया गया है. अब इसके बाद शासनादेश जारी कर शहर में जहां-जहां भी इलाहाबाद नाम होगा उसकी जगह अब प्रयागराज लिखा जाएगा.

कैबिनेट मीटिंग के बाद प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित करते हुए सरकार के प्रवक्ता सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा कि इलाहाबाद का नाम प्रयागराज करने पर कैबिनेट की मंजूरी मिल गई है. सिर्फ जिले का ही नाम प्रयागराज नहीं होगा बल्कि जहां जहां भी इलाहाबाद नाम का प्रयोग किया गया है उसका भी नाम बदल जाएगा. मसलन इलाहबाद यूनिवर्सिटी और इलाहाबाद जंक्शन का नाम भी बदल जाएगा.

Allahabad is know as prayagraj as from today yogi cabinet renamed it

पौराणिक और धार्मिक महत्व को देखते हुए सालों से इलाहाबाद का नाम प्रयागराज करने की मांग उठती आ रही थी. लेकिन, किसी ने भी इस पर गंभीरता से विचार नहीं किया गया. साल 2017 में योगी सरकार ने वादा किया था कि वे इलाहाबाद प्रयागराज कर देंगे. यूपी सरकार ने अपना वादा पूरा करते हुए 444 साल बाद इलाहाबाद का नाम प्रयागराज कर दिया. योगी कैबिनेट के इस फैसले के बाद साधु-संतों में खुशी का माहौल है.

दरअसल, पुराणों में इलाहाबाद का नाम प्रयागराज ही था. अकबर के शासनकाल में इसे इलाहाबाद कर दिया गया था. रामचरित मानस में इसे प्रयागराज ही कहा गया है. संगम के जल से प्राचीन काल में राजाओं का अभिषेक होता था. इस बात का उल्लेख रामायण में है. वन जाते समय श्रीराम प्रयाग में भारद्वाज ऋषि के आश्रम पर होते हुए गए थे. भगवान श्रीराम जब श्रृंग्वेरपुर पहुंचे तो वहां प्रयागराज का ही जिक्र भी है. 

 

 

1574 से पहले इलाहाबाद को प्रयागराज के नाम से ही जाना जाता था. मुगलकालीन ऐतिहासिक पुस्तकों के मुताबिक, अकबर ने सन 1574 के आसपास प्रयागराज में किले की नींव रखी. उसने यहां नया नगर बसाया जिसका नाम उसने इलाहाबाद रखा.