कोरोना: मौलानाओं ने की सादगी से ईद मनाने की अपील, कहा- ईद कपड़ों का नहीं अपनों का त्योहार

लॉकडाउन के मद्देनजर ईद को लेकर धर्म गुरु और उलेमाओं ने मुस्लिम समाज के लोगों से अपील की है. उनका कहना है कि लोग ईद का जश्न अपने घरों में रहकर मनाएं ताकि कोरोना वायरस से बचा जा सके. जमीयत दावतुल मुसलीमीन के संरक्षक का कहना है कि इस ईद उल फ़ितर के त्योहार को सादगी से मनाएं.

कोरोना: मौलानाओं ने की सादगी से ईद मनाने की अपील, कहा- ईद कपड़ों का नहीं अपनों का त्योहार
फाइल फोटो

सहारनपुर : लॉकडाउन के मद्देनजर ईद को लेकर धर्म गुरु और उलेमाओं ने मुस्लिम समाज के लोगों से अपील की है. उनका कहना है कि लोग ईद का जश्न अपने घरों में रहकर मनाएं ताकि कोरोना वायरस से बचा जा सके.

जमीयत दावतुल मुसलीमीन के संरक्षक का कहना है कि इस ईद उल फ़ितर के त्योहार को सादगी से मनाएं. ईद कपड़ों का नहीं अपनों का त्योहार है. ईद के लिए नए कपड़े पहनना ज़रूरी नहीं है जो उमदा हों उसी को पहन कर ईद मनाएं.

ये भी पढ़ें: राजस्थान सरकार ने कोटा से छात्रों की घर वापसी के लिए UP सरकार से मांगा खर्चा, थमाया इतने लाख का बिल

उन्होंने कहा कि इस समय देश को हर किसी के योगदान की ज़रूरत है इसीलिए हम निश्चय करें कि इस ईद पर ख़रीदारी नहीं करेंगे.ख़रीदारी की जगह हर बंदा तय करे कि किसी एक परिवार को एक महीने का राशन देगा,किसी एक ज़रूरतमंद के घर का एक महीने का किराया देगा.

WATCH LIVE TV: